शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

एक्सप्रेस वे बस हादसाः अब तक का सबसे बड़ा सच आया सामने, ड्राइवर की झपकी नहीं इस वजह से हुई दुर्घटना

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Updated Tue, 16 Jul 2019 10:07 AM IST
1 of 5
खाई में गिरी बस - फोटो : अमर उजाला
परिवहन निगम के अवध डिपो की जनरथ बस के आठ जुलाई को तड़के आगरा-यमुना एक्सप्रेस वे स्थित नाले में गिरने की उच्चस्तरीय जांच पर हादसे में घायल यात्री गौरव सिंह ने सवाल उठाया है। सोमवार को गौरव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में आरोप लगाया कि उच्चस्तरीय समिति ने परिवहन निगम के अफसरों को बचाने के लिए मृतक चालक को 29 यात्रियों की मौत एवं 22 के घायल होने का जिम्मेदार ठहरा दिया। लेकिन हादसे के लिए जनरथ बस का खराब व्हीकल ट्रैकिंग सिस्टम और अनजान रूट पर चालक की ड्यूटी लगाने वाले अफसर जिम्मेदार हैं। 
विज्ञापन

2 of 5
शवों को निकालती पुलिस और अन्य - फोटो : अमर उजाला
गौरव ने बताया कि उसने 100 नंबर पर लगातार फोन किया, लेकिन कोई मदद के लिए नहीं आया। इससे मृतकों की तादाद बढ़ी। समय से उपचार मिल जाता  तो कुछ यात्रियों की जान बच सकती थी। चालक गाजीपुर रूट का जानकार था, जिसको अफसरों ने मनमाने तरीके से वहां से हटाकर उसे अनजान दिल्ली रूट पर भेजा था। 

3 of 5
शवों को निकालती पुलिस और अन्य - फोटो : अमर उजाला
उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मांग की है कि हादसे की गलत रिपोर्ट देने वाले अफसरों और मृतक चालक की ड्यूटी लगाने वाले स्टेशन इंचार्ज एवं सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक पर कार्रवाई की जाए। उन्होंने दूसरी कमेटी से हादसे की जांच कराने की मांग की है। गौरव ने कहा मृतकों के परिजनों को पांच लाख के बजाय 10 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाए और इसकी भरपाई परिवहन निगम के लापरवाह अफसरों से हो। 

4 of 5
खाई में गिरी बस - फोटो : अमर उजाला
जांच जारी, रिपोर्ट के आधार पर होगी कार्रवाई
परिवहन निगम के नवनियुक्त प्रबंध निदेशक राजशेखर ने एक सवाल के जवाब में कहा कि इस प्रकरण की उनके स्तर से कोई जांच नहीं कराई जाएगी। हादसे की उच्च स्तरीय समिति की जांच जारी है। समिति की रिपोर्ट के आधार पर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई होगी।
 

5 of 5
बस को जेसीबी मशीन से नाले से बाहर निकाला गया - फोटो : अमर उजाला
आपको बता दें कि आठ जुलाई सोमवार सुबह आगरा के एत्मादपुर क्षेत्र में लखनऊ से दिल्ली जा रही एसी बस यमुना एक्सप्रेस वे की रेलिंग तोड़ते हुए 60 नीचे झरना नाले में जा गिरी थी। हादसे में 29 यात्रियों की मौत हो गई थी, जबकि कई लोग गंभीर घायल थे। बस हादसे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दुख जताया था। 
विज्ञापन

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।