शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

घर पर अकेली थी बीडीएस की छात्रा, घर पहुंचे फूफा ने अंदर झांका तो नजारा देख रह गए सन्न

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Updated Fri, 14 Jun 2019 02:26 PM IST
1 of 8
प्रिया सिंह (फाइल फोटो) - फोटो : amar ujala
लखनऊ में कैंट क्षेत्र में बीडीएस की छात्रा की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। बाहर से बंद कमरे में मंगलवार सुबह तख्त पर उसका शव मिला। छत के पंखे से दुपट्टे का फंदा कसा था और उसके गले पर निशान भी हैं। चार दिन से घर में अकेली छात्रा का हाल पूछने गए फूफा ने नजारा देखकर पुलिस को सूचना दी। पुलिस फिलहाल यह गुत्थी सुलझाने में जुटी है कि हत्या कर शव लटकाने की कोशिश की गई या घर आए परिचित ने फंदे से शव उतारा। मौत की वजह स्पष्ट नहीं हो सकी है, पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है। पुलिस ने डॉग स्क्वाॅयड व फिंगरप्रिंट एक्सपर्ट बुलाकर तहकीकात शुरू की और मोबाइल फोन के कॉल डिटेल मंगाए गए हैं।
विज्ञापन

2 of 8
हत्या - फोटो : amar ujala
क्षेत्राधिकारी कैंट तनु उपाध्याय ने बताया कि मोहल्ला विजयनगर निलमथा निवासी बीडीएस अंतिम वर्ष की छात्रा प्रिया सिंह (25) का शव बाहर से बंद कमरे में तख्त पर पड़ा मिला। प्रिया के पिता प्रकाश सिंह 7 जून को पत्नी रेनू सिंह के साथ एक शादी समारोह में शामिल होने बिहार के गोपालगंज स्थित मूलनिवास गए थे। बीबीडी में बीडीएस की छात्रा प्रिया रोजाना की तरह सोमवार शाम कॉलेज से लौटी थी। पड़ोस में रहने वाले प्रिया के फूफा सेना के सेवानिवृत्त सूबेदार संजय सिंह ने प्रिया को जगाने के इरादे से मंगलवार सुबह 7 बजे फोन किया।

3 of 8
हत्या - फोटो : amar ujala
कॉल रिसीव न होने पर उसके घर पहुंचे। मुख्यद्वार खुला था, जबकि प्रिया के कमरे के दरवाजे पर बाहर से कुंडा लगा था। दरवाजा खोला तो तख्त पर प्रिया का शव पड़ा था। छत के पंखे से दुपट्टे का फंदा कसा नजर आया। इस पर संजय ने पुलिस को फोन किया और शोर मचाकर आसपास के लोगों को जानकारी दी। प्रभारी निरीक्षक रंजना सचान व उपनिरीक्षक धर्मचंद्र मौर्या मौके पर पहुंचे।

 

4 of 8
हत्या - फोटो : amar ujala
100 मी. तक गया खोजी कुत्ता
मामला संदिग्ध नजर आने पर पुलिस ने घर पर आवागमन रोककर फिंगरप्रिंट एक्सपर्ट व डॉग स्क्वॉएड बुलाया। दस्ते ने कमरे के कुंडे, मोबाइल फोन व अन्य स्थानों से अंगुलियों की छाप उतारी। वहीं कमरे की गंध सूंघकर घर से निकले खोजी कुत्ते ने गली से मुख्य मार्ग की तरफ दौड़ लगाई। सौ मीटर चक्कर काटने के बाद लौट आया। क्षेत्राधिकारी ने बताया कि प्रथमदृष्ट्या मामला आत्महत्या का लग रहा है, लेकिन हत्या से भी इनकार नहीं किया जा सकता। पुलिस ने डॉक्टरों के पैनल से पोस्टमॉर्टम कराने के लिए पत्र लिखा है। इस बीच कॉल डिटेल व अन्य बिंदुओं पर तहकीकात जारी है।

5 of 8
हत्या - फोटो : amar ujala
पांच मोबाइल फोन, एक फोन कूंचा गया, दूसरे से डिटेल-डाटा डिलीट
प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि कमरे में पांच मोबाइल फोन मिले। इनमें दो फोन प्रिया के और एक फोन उसकी मां रेनू का था, जबकि दो अन्य मोबाइल फोन की पहचान नहीं हो सकी। एक मोबाइल फोन कूंचा गया था। प्रिया के मोबाइल से कॉल डिटेल व डॉटा डिलीट किया गया था। घर का सामान व्यवस्थित नजर आया। प्रकाश सिंह से फोन पर बातचीत की। उन्होंने किसी रंजिश से इनकार करते हुए बताया कि इकलौती बेटी प्रिया का अच्छी तरह ख्याल रखते थे। पढ़ाई पर ध्यान देने वाली प्रिया को कोई तनाव नहीं था।  


 

6 of 8
हत्या - फोटो : अमर उजाला
कमरे में संघर्ष के निशान नहीं मिले पर कोई तो आया जरूर
प्रिया के गले पर निशान और पंखे से कसे फंदे को देखकर रिश्तेदारों ने किसी व्यक्ति द्वारा हत्या के बाद शव लटकाने की कोशिश की आशंका जताई है। वहीं, पुलिसकर्मियों ने फंदे से लटकी प्रिया को अज्ञात व्यक्ति द्वारा उतारे जाने की आशंका व्यक्त की। कहा कि प्रिया को मृत देखकर फंदे से उतारने वाला व्यक्ति शव तख्त पर छोड़कर भाग निकला। हालांकि दोनों ही परिस्थिति में कोई आया जरूर है। क्षेत्राधिकारी तनु उपाध्याय ने बताया कि प्रिया के गले पर निशान के अलावा कोई चोट नहीं थी। कमरे में भी किसी तरह के संघर्ष के निशान नहीं मिले। सवाल है कि वह किस वजह से फंदे पर लटकी और किसने शव को उतार कर तख्त पर लिटाया। किसी करीबी व्यक्ति के आवागमन की आशंका है। पता लगाया जा रहा है कि प्रिया से किससे बातचीत व चैटिंग हुई थी।

 

7 of 8
हत्या - फोटो : अमर उजाला
बीबीडी में बीडीएस अंतिम वर्ष की छात्रा प्रिया सिंह की मौत की खबर पर बिहार के गोपालगंज में शादी समारोह में गए उसके माता-पिता देर शाम विजयनगर निलमथा स्थित घर पहुंचे। पिता प्रकाश सिंह ने क्षेत्राधिकारी कैंट तनु उपाध्याय और प्रभारी निरीक्षक रंजना सचान को बताया कि प्रिया ने सोमवार देर शाम फोन करके बताया था कि 17 जून से प्रयोगात्मक परीक्षा शुरू होंगी। इससे पहले मां को भेजने की बात कही।

8 of 8
हत्या - फोटो : अमर उजाला
प्रकाश ने चार दिन में लौटने के आश्वासन के साथ उसे दरवाजा अच्छी तरह से बंद करके सोने को कहा था। प्रकाश सिंह ने कहा कि मोहल्ले में रहने वाली राधा उनके घर पर झाड़ूपोछा करती थी। उसकी आदतें ठीक न होने की वजह से बिहार जाने से पहले काम करने से मना कर दिया था। माता-पिता को किसी रंजिश से इनकार करते देख पुलिस ने राधा को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया। प्रकाश सिंह ने बताया कि उनके दो भाइयों में एक के बेटा-बेटी है और दूसरे भाई के कोई संतान नहीं है। वह इकलौती बेटी प्रिया की हर इच्छा पूरी करते थे।
विज्ञापन

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।