शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

48 घंटे तक कोरोना से बचाएगा नाक में छिड़कने वाला एंटी-कोविड स्प्रे, ब्रिटिश शोधकर्ताओं ने किया दावा

लाइफस्टाइल डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Sun, 22 Nov 2020 07:46 PM IST
विज्ञापन
1 of 5
प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : सोशल मीडिया

विज्ञापन मुक्त विशिष्ट अनुभव के लिए अमर उजाला प्लस के सदस्य बनें

Subscribe Now
कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए बाजार में बहुत जल्द ही एंटी-कोविड नेजल स्प्रे बाजार में उपलब्ध कराया जा सकता है। इस स्प्रे की मदद से नाक तक ऐसी दवा पहुंचाई जाएगी, जो 48 घंटे तक इंसान को कोरोना के संक्रमण से बचाएगी। इस स्प्रें में खास तरह के केमिकल का प्रयोग किया गया है, जो कोरोना को शरीर की कोशिकाओं से जुड़ने की क्षमता को कमजोर करता है।
विज्ञापन

2 of 5
प्रतीकात्मत तस्वीर - फोटो : सोशल मीडिया
दरअसल, इस खास एंटी-कोविड स्प्रे पर ब्रिटेन की बर्मिंघम यूनिवर्सिटी की टीम काम कर रही है। इस प्रोजेक्ट पर काम करने वाली टीम का कहना है कि इस स्प्रे का इस्तेमाल हाई रिस्क जोन में मौजूद लोगों पर किया जा सकता है, जैसे हेल्थकेयर वर्कर, फ्लाइट्स या क्लासरूम।

3 of 5
प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : सोशल मीडिया
बता दें कि इस एंटी-कोविड नेजल स्प्रे में कैरेगीनेन और गैलेन जैसे रसायनों का प्रयोग किया गया है, जो स्प्रे को गाढ़ा बनाते हैं। दावा किया जा रहा है कि ये केमिकल इंसानों के लिए सुरक्षित हैं और इसका प्रयोग करने के लिए अप्रूवल भी मिल चुका है। इस स्प्रे पर रिसर्च कर रहे डॉ. रिचर्ड मोएक्स का कहना है कि स्प्रे में ऐसे रसायन हैं, जिनका इस्तेमाल आमतौर पर फूड और मेडिसिन में किया जाता है।
विज्ञापन

4 of 5
प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : Pixabay
गैलेन रसायन नाक के अंदर पहुंचते ही एक लेयर बना देता है। लेयर बनने के बाद अगर कोरोना वायरस नाक में पहुंचता है, तो यह लेयर वायरस पर चढ़ जाती है और छींक या किसी झटके से नाक के बाहर फेंक दिया जाता है। या फिर इंसान निगल जाता है, लेकिन शरीर को कोई नुकसान नहीं होता है।

5 of 5
प्रतीकात्मत तस्वीर - फोटो : सोशल मीडिया
डॉ. रिचर्ड का कहना है कि इस स्प्रे के इस्तेमाल के बाद भी व्यक्ति को कोविड से जुड़े गाइडलाइन को फॉलो करना बेहद जरूरी है। इंसान के शरीर पर कोरोना के लक्षण तभी दिखते हैं, जब यह फेफड़ों तक पहुंच जाता है। लेकिन इस नए एंटी-कोविड नेजल स्प्रे के मदद से कोरोना फेफड़ों तक पहुंच ही नहीं पाएगा। यह स्प्रे संक्रमण को रोकने में काफी हद तक कारगर होगा।

विज्ञापन

Recommended

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।