बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
Try Now

शहर चुनें

आधी आबादी का फिजिकल एक्टिविटी में कोई इंटरेस्ट नहीं, चौंकाने वाले हैं WHO के आंकड़े

लाइफस्टाइल डेस्क, अमर उजाला Updated Mon, 13 Aug 2018 01:34 PM IST
विज्ञापन
1 of 5

विज्ञापन मुक्त विशिष्ट अनुभव के लिए अमर उजाला प्लस के सदस्य बनें

Subscribe Now
सेहत है तो जहान है, लेकिन हमारे देश में सेहत के प्रति जागरुकता की अभी भी कमी है। आईसीएमआर के डेटा के मुताबिक हमारे देश में 50 फीसदी से अधिक लोगों की फिजिकल एक्टिविटी में कोई रुचि नहीं रहती है। विशेषज्ञों के मुताबिक आजकल आर्थराइटिस जैसी जोड़ों की बीमारियां उम्र तक सीमित नहीं रह गई हैं बल्कि शारीरिक रूप से काम न करना भी इस बीमारी के बोझ को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। 

 
विज्ञापन

2 of 5
वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) की रिपोर्ट के अनुसार 05 में से 1 वयस्क और 5 में से 4 टीनएजर्स शारीरिक गतिविधियां नहीं करते हैं। फिटनेस के प्रति जागरूकता की कमी के कारण हेल्थ केयर में 54 अरब डॉलर का सीधा असर पड़ रहा है

3 of 5
आईसीएमआर के आंकड़ों के मुताबिक 54.4 फीसदी लोगों की शारीरिक गतिविधियां करने में कोई रुचि नहीं है। इसके अलावा सरकारी एजेंसी द्वारा की गई स्टडी के अनुसार 10 प्रतिशत से कम लोग फिटनेस के नाम पर मनोरंजन के तौर पर फिजिकल एक्टिविटी करते हैं । 

 
विज्ञापन

4 of 5
समय के साथ घिसने लगते हैं कार्टिलेज 
जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है, शरीर की क्षमता धीमी हो जाती है। हमारे शरीर की हड्डियों के दोबारा बनने और रिपेयर होने की क्षमता कम होने लगती है। हमारे घुटनों के जोड़ में मुलायम टिश्यू मौजूद होते हैं जिसे कार्टिलेज कहते हैं। समय के साथ यह मुलायम टिश्यू घिसने लगते हैं, जिससे जोड़ों में जगह बनने लगती है और इससे जांघ और शिनबोन में घिसाव होने लगता है। 

5 of 5
45 से 60 मिनट तक पैदल चलना आपको जरूरी फिटनेस प्रदान करता है। इसलिए वर्कआउट के लिए समय नहीं, तो कम से कम पैदल जरूर चलें। इसके अलावा 04 या 5 घंटे की नींद लेकर जो लोग वर्कआउट करते हैं तो उन्हें इस दौरान झपकी आने लगती है। नतीजतन, एक्सरसाइज में गलती की संभावना ज्यादा रहती है।

Latest Video

विज्ञापन

Recommended

Next

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।