शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

Nagrota Attack: पाकिस्तान फिर बेनकाब, मिले पुख्ता सबूत, यहीं बने थे दहशतगर्दों के सभी हथियार 

अमर उजाला नेटवर्क, जम्मू Updated Sun, 22 Nov 2020 11:17 AM IST
विज्ञापन
1 of 6
Nagrota Encounter - फोटो : अमर उजाला।

विज्ञापन मुक्त विशिष्ट अनुभव के लिए अमर उजाला प्लस के सदस्य बनें

Subscribe Now
जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर नगरोटा में मारे गए जैश-ए-मोहम्मद के चारों दहशतगर्दों को शकरगढ़ में जैश के ट्रेनिंग कैंप में आत्मघाती हमले की ट्रेनिंग दी गई थी। सूत्रों के अनुसार, इन्हें उपलब्ध विस्फोटकों का इस्तेमाल करके कश्मीर घाटी में ज्यादा से ज्यादा नुकसान पहुंचाने की भी ट्रेनिंग दी गई। 
विज्ञापन

2 of 6
जला हुआ ट्रक - फोटो : अमर उजाला
सूत्रों के अनुसार, पाक में हैंडलर मौलाना मसूद अजहर के भाई अब्दुल रउफ असगर का इनकी ट्रेनिंग में प्रमुख हाथ था। उसने भारतीय सीमा के पास पाकिस्तान के शकरगढ़ कैंप से चार जिहादियों का चयन किया था। हमले की योजना बनाने के लिए एक अन्य आतंकवादी काजी तरार को भी असगर के साथ सौंपा गया था। 

 

3 of 6
encounter in nagrota - फोटो : अमर उजाला
आतंकियों के सभी हथियार पाकिस्तान में बने हुए, सबके लिए तय किए थे गए समय
नगरोटा में जब सुरक्षाबलों ने ट्रक को रोका, तो इसमें छिपे चारों आतंकियों ने अल्लाह हू अकबर, इस्लाम जिंदाबाद, पाकिस्तान जिंदाबाद और जैश जिंदाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिए। सुरक्षाबलों ने इन्हें सरेंडर करने को कहा, मगर यह साफ था कि वे भारतीय सरजमीं पर जान देने के इरादे से ही आए थे। 

विज्ञापन

4 of 6
encounter in nagrota - फोटो : अमर उजाला
मारे जाने के बाद इनके पास से 11 एके-47 राइफल, 23 मैग्जीन, 29 ग्रेनेड और 10 अंडर बैरेल ग्रेनेड लॉन्चर मिले। सभी के सभी हथियार पाकिस्तान में बने हुए थे। इनके पास से जीपीएस प्रणाली और कैसियो की घड़ियां भी मिलीं, जिसमें सभी आतंकियों के लिए एक समय तय किया गया था। 

5 of 6
encounter in nagrota - फोटो : अमर उजाला
फरार ट्रक चालक का तीसरे दिन भी सुराग नहीं
जैश आतंकियों को ट्रक में ले जाने वाले चालक का तीसरे दिन भी कोई पता नहीं चल पाया है। हालांकि, पुलिस और सुरक्षाबलों ने तीसरे दिन भी जंगलों की खाक छानी। अब कयास लगाए जा रहे हैं कि चालक जंगल के रास्तों से होकर रिहायशी इलाके में पहुंच गया है।

6 of 6
आतंकियों से बरामद किए गए हथियार - फोटो : एएनआई
पुलिस ने फिलहाल जंगलों के साथ लगती पंचायतों के प्रधानों को सूचित कर दिया है। वहीं, गुप्तचर पुलिस भी पंचायतों में पहुंच चुकी है। बता दें वीरवार सुबह जैश आतंकियों को लेकर पहुंचे ट्रक को बन टोल प्लाजा में चेकिंग के रोका गया था। इसी दौरान चालक फरार हो गया था। 
 
विज्ञापन

Recommended

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।