शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

दिल्ली-एनसीआर में बढ़ा प्रदूषण का स्तर, दिल्ली सरकार ने जारी की नासा की तस्वीर, ऐसे करें बचाव

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, गाजियाबाद Updated Wed, 16 Oct 2019 10:26 AM IST
1 of 7
नासा द्वारा जारी तस्वीर(फाइल फोटो) - फोटो : सोशल मीडिया
दिल्ली-एनसीआर में मंगलवार से ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (ग्रैप) लागू होने के बावजूद वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) बेहद खराब स्तर पर दर्ज किया गया। एनसीआर में करनाल सर्वाधिक प्रदूषित रहा, जबकि नोएडा में एक्यूआई 305 और दिल्ली में 270 दर्ज किया गया। वहीं दूसरी तरफ दिल्ली सरकार ने भी नासा की तस्वीर जारी कर खेतों में जलाई जा रही पराली की तरफ ध्यान दिलाया है। दिल्ली सरकार का कहना है कि नासा द्वारा जारी हालिया तस्वीरें भी यह बताती हैं कि बड़े पैमाने पर पराली जलाई जा रही है। साथ ही सफर से प्रदूषण का आंकड़ा भी मांगा है

गाजियाबाद शहर मंगलवार को प्रदूषित शहरों की सूची में चौथे नंबर पर पहुंच गया। शहर का एक्यूआई रेड जोन में है। शहर का एक्यूआई 308 दर्ज हुआ, जो कि मानकों से करीब तीन गुना अधिक है। वहीं, शहर में सुबह और रात के समय हवा सबसे ज्यादा प्रदूषित है। गाजियाबाद शहर में मंगलवार को प्रदूषण के स्तर में बढ़ोतरी दर्ज की गई।  सोमवार को शहर का एक्यूआई 227 दर्ज किया गया था जो कि मंगलवार को 308 दर्ज हुआ। अधिकारियों की मानें तो मंगलवार को शहर का एक्यूआई रेड जोन में था। आगे पढ़ें बढ़ते प्रदूषण से अपने आप को बचाने के लिए क्या कर सकते हैं आप....
विज्ञापन

2 of 7
- फोटो : अमर उजाला
मानकों के अनुसार एक्यूआई 100 होना चाहिए लेकिन इस वक्त शहर का एक्यूआई तीन गुना अधिक बना हुआ है। लगातार बढ़ते प्रदूषण स्तर की वजह से मंगलवार को गाजियाबाद शहर देश में प्रदूषित शहरों की सूची में चौथे नंबर पर रहा। जबकि करनाल देश का सबसे प्रदूषित शहर रहा। यहां पर एक्यूआई-343 दर्ज किया गया।। वहीं लोनी भी प्रदूषित शहरों की सूची में छठे नंबर पर रहा। यहां पर एक्यूआई 302 रिकॉर्ड किया गया।

3 of 7
pollution in delhi ncr - फोटो : अमर उजाला
अधिकारियों की मानें तो एक्यूआई में सबसे ज्यादा पोल्यूटेंट इस वक्त 2.5 के हैं। पीएम दस के मुकाबले इस वक्त पीएम 2.5 है। जो कि सेहत के लिए सबसे ज्यादा हानिकारक है। सीपीसीबी के आंकड़ों के अनुसार, इंदिरापुरम में सोमवार रात नौ बजे से मंगलवार को 12 बजे तक पीएम 2.5 रेड जोन में रहा। सुबह नौ बजे पीएम 2.5 का स्तर सबसे अधिक 367 दर्ज किया गया, जो कि मानकों से छह गुना अधिक है। पीएम 10 भी सुबह 10 बजे करीब सर्वाधिक 387 दर्ज हुआ, जो कि मानकों से करीब साढ़े तीन गुना अधिक है।

4 of 7
धुंध में दिल्ली-एनसीआर - फोटो : अमर उजाला
एनसीआर के शहरों का एक्यूआई
करनाल        343 
पानीपत       336
गाजियाबाद    308
नोए़डा        305
ग्रेटर नोएडा   302
फरीदाबाद     294 
दिल्ली       270
गुरुग्राम      240

5 of 7
प्रदूषण - फोटो : अमर उजाला
प्रदूषण के दौरान घर से कम निकले बाहर
गाजियाबाद शहर की हवा बेहद खराब है। एक्यूआई रेड जोन में है। डॉक्टरों की मानें तो इस वक्त घर हो या बाहर दोनों ही जगह में बिना पर्सनल प्रोटेक्टिव डिवाइस के रहने से सांस संबंधित बीमारी का लोग शिकार हो सकते हैं। डॉक्टरों की सलाह है कि ऐसे समय कम से कम बाहर निकले। बाहर निकले तो एन-95 मास्क का प्रयोग करें। घर में भी हवा को साफ रखने के लिए चिमनी, एग्जास्ट चलाकर रखे।

6 of 7
प्रदूषण - फोटो : पीटीआई
साथ ही एयर प्यूरीफायर का इस्तेमाल कर हवा को साफ रखा जा सकता है। मैक्स अस्पताल के प्लमनलोजिस्ट डा. शरद जोशी ने बताया कि बढ़ता प्रदूषण सभी लोगों के लिए हानिकारक है। सूक्ष्म कण सांस लेने के दौरान शरीर में चले जाते हैं। इसका फेफड़ों पर असर पड़ता है। श्वांस रोगी दवाइयां लें और समय पर अपना चेकअप कराएं। इस वक्त आउटडोर एक्टिविटी बंद कर दे। अगर एक्सरसाइज करनी है तो इनडोर करें।

7 of 7
गाजियाबाद में सबसे ज्यादा रहा प्रदूषण - फोटो : अमर उजाला

ऐसे बचे प्रदूषण से

- घर से बाहर निकलने पर मास्क लगाएं
- गीला कपड़ा भी मुंह पर रखा जा सकता है 
- सुबह और शाम को सैर करने से बचे
- इनडोर में एक्सरसाइज करें, आउटडोर से बचे
- श्वास रोगी इनहेलर और एयर प्यूरीफायर का प्रयोग करें
- सांस के मरीज समय पर दवाएं लें और रेगुलर चेकअप कराएं

टीएचए में वाहनों की भरमार है। जगह-जगह जाम लगता है। इस दौरान वाहनों का धुआं झेलने को मजबूर होते हैं। उस पर से रोड पर पानी का छिड़काव न होने से धूल भी खानी पड़ती है। - सरिता भूटानी 

वसुंधरा में जगह जगह निर्माण सामग्रियां खुले में रखी हुई हैं। इससे उड़ने वाला डस्ट आंख, कान और नाक को प्रभावित करता है। चेहरे को ढककर चलना पड़ता है। - पूनम भटनागर
विज्ञापन

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।