शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

चिन्मयानंद की गिरफ्तारी के बाद पीड़ित छात्रा का चौंकाने वाला बयान, कहा-मैं कार्रवाई से संतुष्ट नहीं

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, शाहजहांपुर Updated Sat, 21 Sep 2019 12:52 PM IST
1 of 5
स्वामी चिन्मयानंद गिरफ्तार - फोटो : अमर उजाला
स्वामी चिन्मयानंद के जेल चले जाने के बाद जब पीड़ित छात्रा से पूछा गया कि क्या वह कार्रवाई से संतुष्ट हैं, तो उसका जवाब था कि वह बिल्कुल संतुष्ट नहीं है क्योंकि एसआईटी ने हल्की धाराएं लगाई हैं। उसे इंसाफ मिलता नजर नहीं आ रहा है। उसने कहा कि फिरौती मांगने से उसका कोई लेनादेना नहीं है उसके केस को कमजोर करने के लिए कोई नया पहलू निकाला गया है।
विज्ञापन

2 of 5
पीड़ित छात्रा - फोटो : अमर उजाला
पीड़ित छात्रा को भी जाना पड़ सकता है जेल
फिरौती मामले में पीड़ित छात्रा की संलिप्ता देखी जा रही है। वीडियो में उसकी स्वीकारोक्ति नजर आ रही है। वीडियो दिखाने पर पांच करोड रुपये मांगने की बात भी स्वीकार की है। वहीं गाड़ी में मौजूद ड्राइवर की संलिप्तता सामने नहीं आई है, फिर भी उसके मोबाइल को कब्जे में लिया गया है। मोबाइल डाटा कलेक्ट किया जा रहा है। यदि इसमें वह शामिल नजर आया तो निश्चित रूप से कार्रवाई की जाएगी।

3 of 5
chinmayanand - फोटो : सोशल मीडिया
संजय से 42 सौ और स्वामी से 200 बार हुई मोबाइल से बात
एसआईटी प्रमुख आईजी नवीन अरोड़ा ने बताया कि कॉल डिटेल्स निकलवाने पर पता चला है कि एक जनवरी से अब तक संजय से छात्रा की 42 सौ बार बात हुई है और स्वामी चिन्मयानंद से भी दो सौ बार बात हुई है। इन तथ्यों को भी विवेचना में शामिल किया गया है।

4 of 5
फिरौती का आरोपी संजय सिंह - फोटो : अमर उजाला
बरेली से शिमला, राजस्थान तक घूमते रहे
शाहजहांपुर से बरेली से शाहजहांपुर, दिल्ली से शाहजहांपुर और यहां से शिमला, राजस्थान के दौसा तक के रूट का भी डाटा एसआईटी ने निकाल लिया। आईजी ने बताया कि मोबाइल की बरामदगी, मोबाइल के डिलीटे डाटा रिकवरी, सीसीटीवी की फोरेंसिक विश्लेषण रिपोर्ट मिलने पर और साक्ष्य इकट्ठे किए जाएंगे।
 

5 of 5
कोर्ट में तैनात पुलिस - फोटो : अमर उजाला
आश्रम से लेकर कोर्ट तक पुलिस फोर्स के साथ अफसर रहे तैनात
स्वामी की गिरफ्तारी के मद्देनजर एसआईटी की टीम ने चप्पे-चप्पे पर पुलिस फोर्स की तैनाती करवा दी। संभावना थी कि यदि स्वामी की गिरफ्तारी के दौरान कहीं कोई विरोध हुआ तो उस पर काबू कर लिया जाए। आश्रम और मेडिकल कॉलेज में तैनात भारी संख्या में पुलिस फोर्स पर निगरानी कर रहे थे, वहीं एसपी डॉ. एस चन्नप्पा सुबह जजी कचहरी परिसर पहुंच गए और सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। यहां पर एएसपी सिटी दिनेश त्रिपाठी भी लगाए गए थे। वहीं एएसपी ग्रामीण अपर्णा गौतम एसआईटी के साथ नजर आईं।
विज्ञापन

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।