शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

यूपी: सड़क पर बिखरी लाशें देख मच गया कोहराम, शादी की खुशियां मातम में बदलीं

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हापुड़ Updated Mon, 22 Jul 2019 03:04 AM IST
1 of 5
हापुड़ में सड़क हादसा - फोटो : Amar Ujala
सादिकपुर के पास देर रात हुए दो वाहनों की भिड़ंत के बाद सड़क पर लाशें और घायलों को देख कोहराम मच गया। हादसा इतना भयानक था कि चारों ओर खून ही खून बिखरा था। शादी की खुशियां मनाकर लौट रहे लोग और उनके साथ मौजूद बच्चों की चीख दूर-दूर तक सुनाई दे रही थी। हादसे की सूचना समारोह स्थल पर पहुंची तो हर कोई घटनास्थल की ओर दौड़ पड़ा।   
विज्ञापन

2 of 5
हापुड़ सड़क हादसा - फोटो : Amar Ujala
परिजनों ने बताया कि शादी समारोह देर रात तक चलना था, इसलिए बच्चों को खाना खिलाने के बाद घर भेजा गया था। पिकअप वाहन में अधिकांश संख्या बच्चों की थी, लेकिन उन्हें आभास भी नहीं था कि वह घर नहीं पहुंच पाएंगे। उन्हें नहीं पता था कि वह घर के लिए नहीं बल्कि मौत के सफर पर निकले हैं। घर पहुंचने से पहले ही मंजर बदल गया। भिडंत ऐसी थी कि कई लोगों के हाथ-पांव कटकर दूर जा गिरे। मौके पर पहुंची पुलिस को रात के अंधेरे में शरीर के अंगों को इकट्ठा करना पड़ा।

3 of 5
हापुड़ सड़क हादसा - फोटो : Amar Ujala
एएसपी डॉ.सर्वेश कुमार मिश्रा भारी फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए थे। तत्काल एंबुलेंस बुलाई गई और घायलों को दो निजी अस्पतालों में पहुंचाया गया। अस्पताल में इतनी बड़ी संख्या में घायलों को देखकर डॉक्टरों के भी हाथ-पांव फूल गए। अकेले देवनंदिनी अस्पताल में आठ लोगों के मरने की पुष्टि हुई तो चीखपुकार मच गई। वहीं अन्य घायलों की हालत भी गंभीर है। दूसरी तरफ छह लोगों को खान नर्सिंग होम ले जाया गया। इनमें से भी एक घायल की इलाज के दौरान मौत हो गई। 

4 of 5
हापुड़ सड़क हादसा - फोटो : ANI
पुलिस और प्रशासनिक अमला पहुंचा अस्पताल

इतने बड़े हादसे की सूचना मिलने पर पुलिस के साथ-साथ प्रशासनिक अधिकारी भी अस्पताल पहुंचे। उन्होंने घायलों के बारे में जानकारी जुटाई। देर रात तक अस्पताल पर अधिकारी मौजूद रहे। रात को ही कुछ अधिकारियों को मृतकों के पोस्टमार्टम की प्रक्रिया में लगाए गए। जबकि कुछ अधिकारी घटनास्थल और अस्पताल में तैनात रहे। वहीं कई सीनियर अधिकारी पीड़ित परिजनों को संभालने में जुटे रहे।

5 of 5
हापुड़ सड़क हादसा - फोटो : Amar Ujala
ग्रामीणों ने भी की मदद

हादसे के बाद पुलिस बल के साथ-साथ आसपास के गांव के भी कई लोग मौके पर पहुंच गए थे। उन्होंने घायलों को पिकअप वाहन से निकालने और अस्पताल तक पहुंचाने में मदद की। हालांकि अंधेरा होने की वजह से बचाव कार्य में दिक्कतों का सामना करना पड़ा। वहीं नौ लाशें और पंद्रह से ज्यादा अन्य घायलों को देखने अस्पताल पहुंचीं महिलाएं गश खाकर गिर पड़ी। जिन बच्चों को उन्होंने अपने हाथों से तैयार कर शादी में भेजा था, उन्हीं को सफेद कपड़े में देख वह खुद को संभाल नहीं पाई।
विज्ञापन

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।