वाड्रा के सहयोगी महेश नागर के दफ्तर पर ईडी का छापा, चालक के नाम खरीदी थी जमीन

Home›   City & states›   ED's raids on Vadra's associate Mahesh Nagar's office

अमर उजाला ब्यूरो, फरीदाबाद/नई दिल्ली

ROBERT VADRA

बीकानेर की कोलायत जमीन खरीद घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय ने शुक्रवार को तिगांव विधायक के भाई और रॉबर्ट वाड्रा के करीबी महेश नागर के खेड़ी स्थित कार्यालय पर छापेमारी की। ईडी की टीम देर शाम तक दस्तावेज की छानबीन करती रही। विधायक ललित नागर ने ईडी के छापे को भाजपा सरकार की दबाव की राजनीति बताते हुए खुद को निर्दोष बताया है। राहुल गांधी के बहनोई रॉबर्ट वाड्रा ने महेश नागर को अपनी कंपनी स्काईलाइट हॉस्पिटैलिटी प्राइवेट लिमिटेड की पावर ऑफ अटार्नी दे रखी थी। कोलायत में महेश नागर के चालक अशोक कुमार के नाम से जमीन खरीदी गई थी। बाद में यह जमीन अशोक ने महज 79 लाख रुपये में रॉबर्ट वाड्रा की कंपनी को बेच दी थी, जिसकी पावर ऑफ अटार्नी महेश नागर के पास थी। बाद में यही जमीन स्काईलाइट कंपनी ने एलीनिजो फिनलेज कंपनी को 5 करोड़ रुपये में बेची थी। इस मामले में मनी लॉन्ड्रिंग का मुद्दा उठने पर मामले की जांच प्रवर्तन निदेशालय को सौंपी गई थी। शुक्रवार सुबह छह बजे ईडी की टीम महेश नागर के खेड़ी स्थित प्रॉपर्टी डीलिंग के कार्यालय पर पहुंची। टीम की छानबीन देर शाम तक जारी रही। इस मामले में ईडी ने 12 अप्रैल, 2017 को महेश नागर के साथ ही तिगांव विधायक ललित नागर और उनके करीबियों के घर एक साथ छापा मारा था। 
Share this article
Tags: ed , robert vadra , rahul gandhi ,

Also Read

ृषि योग्य भूमि पर अवैध प्लॉटिंग की कर दी रजिस्ट्री, चार तहसीलदार नामजद

वाड्रा की कथित कंपनी से जुड़े जमीन घोटाले मामले में आरोपियों को JC

Most Popular

इस गांव में बिना शादी बच्चे पैदा करने की है परंपरा, मेले में लड़का पसंद आते ही भाग जाती है लड़की

यहां पटरी से उतर गया रेल इंजन, बड़ा हादसा टला

ये कैसी परंपरा! 7 बार अंजान मर्द से संबंध बनाती हैं औरतें, कारण जानेंगे तो होश उड़ जाएंगे

बड़े-बड़े विमानों के फर्स्ट क्लास केबिन में एयर होस्टेस को करने पड़ते हैं ये काम

उत्तराखंड: कॉलेज के हॉस्टल में छात्रा की मौत, बाथरूम में मिला खून से लथपथ शव, दर्दनाक तस्वीरें...

इन 11 जाबांजों के भरोसे मैदान पर उतरेगी KKR, मिशन होगा 'IPL फाइनल'