शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

कमलेश हत्याकांडः दो सौ यूट्यूब वीडियो से युवाओं को गुमराह कर रहा था आसिम

अमर उजाला ब्यूरो, लखनऊ Updated Wed, 23 Oct 2019 03:50 AM IST
यूट्यूब वीडियो
एटीएस महाराष्ट्र के हत्थे नागपुर से चढ़ा सैयद आसिम अली के बारे में कई अहम जानकारी जांच एजेंसियों के हाथ लगी है। आसिम के यूट्यूब चैनल से मिले साक्ष्यों ने जांच एजेंसियों के होश उड़ा दिए हैं। इस चैनल के 41 हजार सब्सक्राइबर हैं और आसिम की ओर से लगभग दो सौ वीडियो अपलोड किए गए हैं।
विज्ञापन
ठीक दो साल पहले 25 अक्तूबर 2017 को आसिम की ओर से एक वीडियो अपलोड किया गया था जिसके टाइटिल में ही कमलेश को चुनौती देते हुए लिखा है कि गुस्ताखी की सजा सिर्फ मौत। यह वीडियो तब बनाया गया है जब कमलेश तिवारी ने एक विवादित फिल्म बनाने की घोषणा की थी। वीडियो में आसिम कमलेश तिवारी को खुला चैलेंज देते दिखाई दे रहा है और कह रहा है कि ... कमलेश तिवारी तेरे दिन मुकम्मल हो चुके हैं।

जांच एजेंसियों का दावा है कि आसिम ने अपने यूट्यूब चैनलों पर भड़काऊ वीडियो अपलोड करके 40 हजार से अधिक फालोवर बना चुका है। आसिम को गिरफ्तार करने की मांग पूर्व में भी कई अलग अलग संगठनों द्वारा की जाती रही है, लेकिन सोशल मीडिया पर सुबूत की भरमार होने के बावजूद नागपुर पुलिस और एटीएस आसिम को हाथ तक नहीं लगा सकी। 

इतना ही नहीं धर्म की आड़ में लोगों को गुमराह करने के लिए वह नागपुर में कई विरोध प्रदर्शन की अगुवाई भी कर चुका है। वह खुद को ‘सुन्नी यूथ विंग एंटी टेररिस्ट अर्गनाइजेशन’ का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बताता है। कई वीडियो में वह माइनॉरिटी डेमोक्रेटिक पार्टी का भी प्रचार प्रसार करता दिख रहा है।

सूत्रों का कहना है कि आसिम ने अपने यूट्यूब चैनलों के जरिए कई राज्यों में अपने फालोवर बना लिए हैं और इन्हीं के जरिए वह धर्म के नाम पर लोगों को भड़काने का काम करता है। जांच एजेंसियां पता लगाने की कोशिश कर रही हैं कि अन्य राज्यों में आरएसएस और हिंदू संगठनों के लोगों को निशाना बनाया गया है, उसमें भी कहीं आसिम का हाथ तो नहीं?

6 दिन पहले अमित शाह और ओवैसी के खिलाफ उगला था जहर
आसिम का एक वीडियो 6 दिन पहले का अपलोड है, 16 अक्तूबर को पोस्ट इस वीडिया में वह एक सभा को संबोधित करते हुए अमित शाह और ओवैसी बंधुओं को चुनौती दे रहा है। 7 मिनट के इस वीडियो में बाबरी मस्जिद और एनआरसी जैसे संवेदनशील मुद्दों पर लोगों को भड़का रहा है।

सोती रहीं जांच एजेंसियां और आग उगलता रहा आसिम
हैरत की बात यह है कि आसिम यह यूट्यूब चैनल दो साल से अधिक समय से चला रहा है लेकिन किसी जांच एजेंसी या सुरक्षा एजेंसी की निगाह इस यूट्यूब चैनल पर नहीं पड़ी। वह कमलेश तिवारी के अलावा भी कई नेताओं और हस्तियों को खुले आम चुनौती देता दिखाई दे रहा है। सूत्रों का कहना है कि इसके अधिकतर फालोवर नागपुर और गुजरात के रहने वाले हैं। अन्य राज्यों में भी इसके सोशल मीडिया फालोवर हैं लेकिन उनकी संख्या काफी कम बताई जा रही है। फिलहाल जांच एजेंसियां आसिम से लखनऊ में पूछताछ कर रही हैं।
विज्ञापन

Recommended

kamlesh tiwari news youtube video misleading youths accused asim
विज्ञापन

Spotlight

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।