शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

जम्मू-कश्मीर: सोपोर में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी, लश्कर का शीर्ष आतंकी ढेर

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जम्मू/श्रीनगर Updated Wed, 11 Sep 2019 10:24 AM IST
भारतीय सेना, फाइल फोटो - फोटो : अमर उजाला

खास बातें

  • लश्कर का शीर्ष आतंकी आसिफ मारा गया
  • जम्मू के सभी जिलों में हालात सामान्य- डीजीपी
  • 450 से अधिक आतंकियों की मौजूदगी की सूचना
उत्तरी कश्मीर के बारामुला जिले के सोपोर में बुधवार को सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में लश्कर ए तैयबा के एक आतंकी को मार गिराया। सुरक्षाबलों को सोपोर में आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। इसके तुरंत बाद सेना की 22 राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर), सीआरपीएफ और पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) के जवानों द्वारा इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया।

इसी दौरान इलाके में छिपे आतंकी ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी। इसके जवाब में सेना की ओर से भी फायरिंग की गई। पुलिस के अनुसार इसमें लश्कर ए तैयबा के शीर्ष कमांडरों में शामिल आतंकी आसिफ को मार गिराने में सफलता मिली। पुलिस ने उसके पास से हथियार व गोला बारूद बरामद किया है। वहीं मुठभेड़ में दो पुलिसकर्मी घायल हुए हैं।
 
जम्मू कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने कहा कि माारे गए लश्कर के आतंकी आसिफ ने सोपोर में काफी आतंक मचा रखा था। पिछले एक महीने में वह आतंकी गतिविधियों में बहुत सक्रिय था। इतना ही नहीं पोस्टर जारी करके घाटी के लोगों को दुकानें और कारोबार बंद रखने की धमकी भी दी थी।


उन्होंने बताया कि आज यानी की बुधवार सुबह सूत्रों से सूचना मिली की यह आतंकी सोपोर में छिपा हुआ है। इसको देखते हुए सेना के जवानों द्वारा इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया। ऑपरेशन की भनक लगते ही आतंकी ने जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी। इतना ही नहीं आतंकी आसिफ ने ऑपरेशन में लगी टीम पर ग्रेनेड फेंका जिससे 2 पुलिसकर्मी घायल हो गए। उनको उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
 
डीजीपी ने बताया कि जम्मू के सभी 10 जिलों में हालात पूरी तरह से सामान्य हो गए हैं। सभी स्कूल, कॉलेज और कार्यालय खुले हैं। लेह और कारगिल में भी हालात सामान्य हैं। वहां किसी भी तरह का कोई प्रतिबंध नहीं है। कहा कि 90 फीसदी से अधिक क्षेत्र प्रतिबंधों से मुक्त हैं, साथ ही सौ फीसदी टेलीफोन एक्सचेंज काम कर रहे हैं।
विज्ञापन

450 से अधिक आतंकियों की मौजूदगी की सूचना

घाटी में 230 पाकिस्तानी आतंकियों के साथ ही 450 से अधिक आतंकियों की मौजूदगी की सूचना है। उत्तरी कश्मीर में ज्यादातर पाकिस्तानी आतंकियों की मौजूदगी है। दक्षिणी कश्मीर में भी लश्कर ए तैयबा तथा जैश ए मोहम्मद की कमान पाकिस्तानी आतंकियों के हाथ है। हिजबुल से जुड़े आतंकी अधिक संख्या में दक्षिणी कश्मीर में सक्रिय हैं जिनमें ज्यादातर स्थानीय हैं।

जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त किए जाने के बाद सुरक्षा बलों की ओर से बनाए गए दबाव के चलते ज्यादातर आतंकियों ने पहाड़ों पर सुरक्षित स्थानों पर पनाह ले ली है। अब इन दहशतगर्दों को घेरने के लिए सुरक्षा बलों की ओर से पहाड़ों पर घेराबंदी और तलाशी अभियान (कासो) चलाने की तैयारी है।

डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया कि त्राल में दो गुज्जरों की हत्या के बाद अब पहाड़ों पर आतंकियों को घेरने की योजना बनाई गई है। हकीकत पता चलने पर अब लोगों ने अपने घरों में इन्हें पनाह देना बंद कर दिया है। इस वजह से आतंकियों ने भागकर पहाड़ों पर सुरक्षित ठिकाना तलाश लिया है।
विज्ञापन

Recommended

sopore encounter security forces jammu and kashmir news jammu and kashmir terrorist encounter

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Related

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।