शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

कठुआ रेप कांड की ग्राउंड रिपोर्ट: कई सवाल खड़े करता है देवस्थान में 3 दिन रेप होना

अजय मीनिया, अमर उजाला, कठुआ Updated Sun, 15 Apr 2018 08:32 PM IST
कठुआ जिले के रसाना का देव स्थान - फोटो : अमर उजाला
कठुआ के रसाना में हुआ रेप कांड कई सवालों के घेरे में है। नाबालिग को एक देवस्थान पर तीन दिनों तक कैद रखा गया। ऐसा क्राइम ब्रांच की चार्जशीट कहती है। लेकिन बार एसोसिएशन समेत कठुआ के तमाम लोग संदेह की दृष्टि से देख रहे हैं। चार्जशीट में जो बातें कही गई हैं वह मौके पर कहानी से मेल नहीं खाती। ऐसा स्थानीय लोगों का कहना है।  अमर उजाला ने क्राइम ब्रांच की चार्जशीट और देवस्थान की जमीनी हकीकत की पड़ताल की। पढ़िए मौका-ए वारदात की यह ग्राउंड रिपोर्ट...

चार्जशीट: 3 दिन तक नाबालिग को देवस्थान में रखा गया
ग्राउंड रिपोर्ट: तीन दरवाजों से जुड़ा देवस्थान। भीतर राजा मंडलीक, बाबा सुरगल, माता मल, बाबा बिरफा नाथा और बाबा कालीवीर जैसे कुल देवताओं का स्थान। डोगरों में इन सभी कुल देवताओं की बहुत अहमियत है। इस देवस्थान के तीन दरवाजों की चार चाबियां हैं। तीन चाबियां रसाना के 13 घरों में बदल-बदल रखी जाती है। इसके अलावा एक चाबी पाटा गांव में है। इस गांव में 30 के करीब घर हैं। सुबह 6 बजे से लेकर 10 बजे और शाम 6 बजे से 8 बजे तक सब लोग देवस्थान में ज्योत जगाने आते हैं। ऐसी मान्यता है कि कुल देवता के स्थान पर प्रतिदिन दो वक्त ज्योत जलाई ही जाती है।

चार्जशीट: सांझी राम ने बेटे और भांजे के साथ बच्ची को रेप के बाद मारने की योजना बनाई
ग्राउंड रिपोर्ट: सांझी राम की बेटी मोनिका शर्मा का कहना है कि उसके भाई विशाल को पकड़ लिया गया है। उसके पिता को मास्टरमाइंड बना दिया। कौन पिता होगा जो अपने बेटे को कहेगा कि किसी मासूम से रेप कर दो। क्राइम ब्रांच ने मनगढ़ंत कहानी बनाकर उसके पिता को फंसा दिया। उसके पिता की बक्करवाल परिवार से कोई पुरानी दुश्मनी नहीं थी। न ही कोई जमीन का विवाद था। यदि ऐसा होता तो बच्ची का परिवार 40 साल से यहां रहता आ रहा है। अगर कोई रंजिश होती भी तो बच्ची पे क्यों निकालते।

चार्जशीट: वाहन न मिला तो जंगल में फेंक दिया शव
ग्राउंड रिपोर्ट: जिस जगह पर नाबालिग का शव मिला। वो जगह सांझी राम के घर और देवस्थान को जोड़ती है। यूं कहा जाए कि देवस्थान से सांझी राम के घर के रास्ते में शव मिला था। यह भी एक सवाल है कि सांझी राम के घर के रास्ते के बीच शव क्यों फेंका, जबकि आरोपियों को मालूम था कि वहां से हर रोज कई लोग गुजरते हैं। यह रास्ता सांझी राम के अलावा अन्य घरों को शार्टकट रास्ते के रूप में जोड़ता है।
विज्ञापन

चार्जशीट: 12 जनवरी को विशाल जंगोत्रा ने सुबह 6 बजे देवस्थान में बच्ची से रेप किया
ग्राउंड रिपोर्ट: सुबह 6 बजे से लेकर 10 बजे तक पाटा और रसाना गांव के लोग ज्योति जलाने आए होते हैं। सांझी राम की बेटी का कहना है कि 10 जनवरी से लेकर अगले चार दिन तक लगातार दोनों गांव के कई लोग देवस्थान आए। अगर बच्ची को यहां रखा होता तो वो नजर नहीं आती क्या?

चार्जशीट: बच्ची को टेबल के नीचे छुपाकर, मैट और दरियों से कवर करके रखा
ग्राउंड रिपोर्ट: देवस्थान में यह टेबल अब भी पड़ा है। जिसकी ऊंचाई करीब दो फुट होगी और लंबाई ढाई फुट। इसके नीचे किसी को छुपाकर रखना जाए तो साफ तौर पर पता चल जाएगा। बेशक इसे सभी तरह से कवर करके रखा जाए। सांझी राम की बेटी मोनिका शर्मा ने कहा कि क्राइम ब्रांच ने बताया कि तीन दिन तक बच्ची से देवस्थान के भीतर रेप हुआ। लेकिन उक्त तीन दिनों में सुबह शाम लोग आकर माथा टेक कर गए। यदि लड़की को यहां छुपाया होता, तो पता चल जाता।  

चार्जशीट: सांझी राम के शेड में भी बच्ची को रखा गया
ग्राउंड रिपोर्ट: यह शेड गांव के बीचों बीच बना हुआ है। जो बिल्कुल खुला है। इसमें कोई भी होगा तो साफ तौर पर दिख जाएगा। शेड के पास कई और घर भी हैं। 

दोषी हों, तो कड़ी सजा दो, लेकिन जांच सीबीआई से कराओ
वहीं कूटा में धरने पर बैठे रसाना गांव के लोगों का कहना है कि अगर सांझी राम सहित अन्य लोग दोषी हों, तो उन्हें सख्त सजा दो, लेकिन इसकी जांच सीबीआई से कराओ। क्योंकि क्राइम ब्रांच ने सिर्फ एक ही पक्ष की बात सुनी है। सीबीआई की जांच में यदि साबित हो तो वह लोग तैयार हैं।
विज्ञापन

Recommended

kathua case ground report rape in devasthan

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Related Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।