शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

J&K:हाईकोर्ट ने 1 महीनें में हादसों में हुई 48 मौत के मामले में परिवहन आयुक्त से जांच रिपोर्ट की तलब

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जम्मू Updated Wed, 17 Jul 2019 01:20 AM IST
जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट - फोटो : फाइल
जम्मू-कश्मीर की मुगल रोड पर 11 छात्रों और किश्तवाड़ में 37 लोगों की मौत पर हाईकोर्ट ने कड़ा संज्ञान लिया है। परिवहन आयुक्त को मुगल रोड हादसे की जांच रिपोर्ट पेश करने का आदेश दिया गया है। साथ ही हाईकोर्ट ने सरकार के सामने कई सवाल किए हैं, जिनके तीन हफ्तों के भीतर जवाब देने होंगे। 

पुंछ के रहने वाले वकील इंतखाब अहमद काजी ने हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर कर मुगल रोड और डोडा व किश्तवाड़ जिले में मौत के तांडव का मामला उठाया था। मंगलवार को ओपन कोर्ट में सुनवाई करते हुए जस्टिस धीरज सिंह ठाकुर और जस्टिस सिंधु शर्मा वाली खंडपीठ ने सड़क हादसों पर कड़ा रोष जताया।

मुगल रोड और किश्तवाड़ की घटना को बड़ी लापरवाही माना गया है। परिवहन विभाग की लापरवाही और रैश ड्राइविंग की वजह से दोनों हादसे हुए। हाईकोर्ट ने इन हादसों को लेकर कई आदेश दिए हैं और कई सवाल तय किए हैं, जिनके सरकार को तीन हफ्तों के भीतर जवाब देना होगा। 

याचिका कर्ता ने एसआरटीओ पुंछ, एआरटीओ शोपियां, एसपी ट्रैफिक रूरल जम्मू/कश्मीर, एसएचओ सुरनकोट के खिलाफ लापरवाही और कर्तव्य से ड्यूटी न निभाने को लेकर जांच और कार्रवाई करने की मांग की है। इंतखाब ने यह याचिका मुगल रोड पर 11 छात्रों की मौत मामले को लेकर दायर की है।
विज्ञापन

कोर्ट ने सरकार के लिए तय सवाल
  • राजोरी और पुंछ जिलों में ट्रैफिक रेगुलेट करने के लिए कितने मुलाजिम हैं?
  • डोडा जिले के दुर्गम इलाकों में कितने ट्रैफिक पुलिस कर्मी है?
  • मुगल रोड पर एक्सीडेंट के दिन तैनात अफसरों पर कार्रवाई क्या हुई, या सुपरविजन में लापरवाही हुई, इसका ट्रैफिक पुलिस के आईजी जवाब दें?
  • दिल्ली एनसीआर की तर्ज पर 15 साल से अधिक पुराने वाहनों पर प्रतिबंध लगाने और रैश ड्राइविंग में संलिप्त एक ही चालक का लाइसेंस रद्द करने के सवाल तय किए गए हैं?

तीन हफ्तों में अपना जवाब दें ये अधिकारी
गृह विभाग के प्रधान सचिव, परिवहन आयुक्त, पीडब्लयूडी, शिक्षा विभाग, डीजीपी, राजोरी, पुंछ, शोपियां के डीसी, ट्रैफिक पुलिस के आईजी, चीफ इंजीनियर मुगल रोड, आरटीओ जम्मू, कश्मीर, एआरटीओ, पुंछ, राजोरी, शोपियां को तीन हफ्तों में जवाब देना होगा।

दौड़ रहे अनफिट वाहन
याचिकाकर्ता की तरफ से एडवोकेट शकील अहमद ने दलीलें पेश करते हुए कहा कि डोडा, किश्तवाड़, मुगल रोड, पहाड़ी इलाकों में सड़क हादसों का सबसे बड़ा कारण इन इलाकों में दौड़ने वाले अनफिट व्यवसायिक वाहन हैं। संबंधित विभाग चालकों के हाथों के दस्तानें बनकर रह गए हैं। इनके ऊपर कोई चेकिंग नहीं होती। मुगल रोड की हालत भी खस्ता है, जो सड़क हादसों का सबब बनती है। 
विज्ञापन

Recommended

jammu high court srinagar high court transport commissioner transport commissioner jammu and kashmir

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Related

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।