शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

ज्येष्ठ पूर्णिमा पर पवित्र स्नान के लिए लगा श्रद्धालुओं का तांता ।

जम्मू और कश्मीर ब्यूरो Updated Tue, 18 Jun 2019 01:48 AM IST
चिनैनी। ऐतिहासिक सुद्धमहादेव मेले के दूसरे दिन पौ फटने की देर थी कि आस्था का सैलाब उमड़ पड़ा। पहले दिन के विपरीत दूसरे दिन सुबह चार बजे ही मेला स्थल पर चहल-पहल शुरू हो गई। ज्येष्ठ पूर्णिमा पर भगवान शिव और माता पार्वती के भक्तों ने सुबह से ही गौरीकुंड, सुद्धमहादेव स्थित देविका और पाप नाशनी बावली में स्नान कर पुण्य अर्जित करना शुरू कर दिया।
विज्ञापन
सुबह ग्यारह बजे तक मेला स्थल पर श्रद्धालुओं की संख्या ऐसी थी कि बाजार तो बाजार सड़क भी भक्तों की संख्या से लुप्त हो गई थी, जबकि देर शाम तक मेले में पहुंचने वाले श्रद्धालुओं का आंकड़ा दो दिन का 50 हजार तक पहुंच गया था। मेला स्थल पर शुक्रवार को तेज धूप भी थी, लेकिन श्रद्धालुओं का उत्साह कम नहीं हुआ और उन्होंने बम-बम भोले व हर-हर महादेव के जयकारे लगाए, जिससे सुद्धमहादेव की धरती फिर शिव के जयकारों से गूंज उठी। दोपहर बाद तेज बारिश से मौसम सुहावना हो गया। पारंपरिक झूलों का आनंद लेने से लंगर का प्रसाद चखने तक श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा।
गौरतलब है कि सुद्धमहादेव मेले में रविवार की पूर्व संध्या पर ही हजारों लोग निजी यात्री वाहनों से पहुंच रहे थे जो ज्येष्ठ पूर्णिमा पर भगवान शिव के दर्शन कर अपने आप को भाग्यशाली मान रहे थे। सोमवार को भी कई वाहन जम्मू, कठुआ, सांबा, रियासी, उधमपुर व अन्य जगहों से आते रहे, जो गौरीकुंड में पहला स्नान, सुद्धमहादेव में दूसरा व मानतलाई में तीसरा स्नान कर भगवान शिव के दर्शन कर रहे थे।
---------
सांस्कृतिक कार्यक्रम से मंत्रमुग्ध हुए लोग
सुद्धमहादेव मेले में हायर सेकेंडरी स्कूल के मैदान पर यूथ सर्विस एंड स्पोर्ट्स की तरफ से हर साल की तरह इस बार भी सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें डोगरी कलाकारों ने गायन से लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया। कार्यक्रम में स्कूली बच्चों ने भी खूब प्रदर्शन कर लोगों का मनोरंजन किया तो डोगरी गायकों ने भजन व गाने गाकर लोगों को झूमने पर मजबूर कर दिया।
---------
कई वीआईपी पहुंचे शिव के द्वार
सुद्धमहादेव मेले के दूसरे दिन कई वीआईपी भी भगवान शिव के द्वार पहुंचे और शीश झुकाया। पूर्व मंत्री हर्ष देव सिंह ने प्राचीन शिव मंदिर में माथा टेका।
---------
शिव गाथा से गूंजा शिव मंदिर
हर वर्ष की तरह सुद्धमहादेव के मंदिर में जंगम पहुंचते हैं तथा सोमवार को भी जंगम शिव गाथा गा रहे थे, जिससे पूरा मंदिर गूंज उठा। उन्होंने भगवान शिव की गाथा सुनाई। इस दौरान दिन भर मंदिर में लोग शिव आराधना सुनने के लिए जंगम के पास पहुंच रहे थे और शिव की आराधना सुन रहे थे।
---------
इस बार भी नहीं पहुंचा शंकर
पिछले कई साल तक सुद्धमहादेव के मंदिर के पास बैठकर ढोल नगाड़ा बजाने वाला शंकर इस बार भी नही पहुंचा। शंकर अपने बुजुर्गों के समय से हर वर्ष मेले में तीन दिन तक नगाड़ा बजाता था, लेकिन पिछले वर्ष व इस वर्ष भी उसकी कमी मेले में खली। मंदिर कमेटी के सदस्यों ने बताया कि शंकर हर साल आकर भगवान शिव के मंदिर के बाहर बैठकर ढोल व नगाड़ा बजाता था। उसके इस नगाड़े की धुन से हर कोई मंत्रमुग्ध हो जाता था, लेकिन इस बार भी उसके न आने से नगाड़ा व ढोल स्टोर में ही पड़ा रहा। वही शंकर का नगाड़ा व ढोल में धूल गिर गई थी और उसको भी शंकर के आने का इंतजार था।
------
50 हजार से अधिक कर चुके हैं भगवान शिव के दर्शन
सुद्धमहादेव में शुक्रवार से ही श्रद्धालुओं की आवाजाही जारी है ऐसे में सोमवार तक करीब 50 हजार लोग भगवान शिव के प्राचीन मंदिर में दर्शन कर चुके थे। मेला स्थल पर सोमवार को रौनक देखते ही बन रही थी और दुकानों पर भी ग्राहकों की भीड़ थी, जबकि झूले लेने वाले भी अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे। वही सेवादारों ने भी लंगर लगाया हुआ था। जहां दिन भर भीड़ जुटी थी। वही चिनैनी में हल्वे का स्टाल व मीठे पानी की छबील लगाई गई थी।
---------
बश्ट में लगाया गया था नाका
पुलिस व सीआरपीएफ की तरफ रविवार से ही बश्ट में नाका लगाया गया था और आने जाने वाले की चेकिंग की जा रही थी। मेले कोई संदिग्ध न जा पाए और कोई शराब की थैलियां लेकर न जाए। उसकी गहनता से तलाशी ली जा रही थी। पुलिस ने कई लोगों से शराब की थैलियां भी बरामद कीं।
----------
दोपहर में छड़ी पहुंची
तीन दिवसीय मेले में पहली बार छड़ी आई है, जिसके दर्शन के लिए लोग पहुंच रहे थे। जम्मू से सोमवार की सुबह छड़ी मुबारक धूमधाम से निकाली गई जो जम्मू के नगरोटा, उधमपुर के देविका, चिनैनी के मुक्तेश्वर महादेव मंदिर, गौरकुंड, सुद्धमहादेव देविका, पाप नाशनी बावली से होती हुई प्राचीन शिव मंदिर पहुंची, हर जगह छड़ी मुबारक का स्वागत किया गया और चिनैनी में भी छड़ी पहुंचने पर स्वागत हुआ।
--------
बारिश ने खोली प्रशासन की पोल
बारिश को लेकर प्रशासन द्वारा श्रद्धालु को लिए कोई भी इंतजाम नहीं किया गया था, जिसके चलते बारिश में श्रद्धालु परेशान भी हुए। सोमवार की दोपहर हुई तेज बारिश में में सुद्धमहादेव में भारी भीड़ थी, लेकिन बारिश के बाद लोगों को किसी की दुकानें के नीचे तो किसी को जहां तहां जाकर बारिश से बचना पड़ा, जिससे लोगों ने कहा कि मेले में इतना ज्यादा इंतजाम होता है प्रशासन को मेले में बारिश को लेकर भी विशेष इंतजाम करने चाहिए ताकि किसी को भी परेशानी पेश न आए।
विज्ञापन

Recommended

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।