शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

जम्मू-कश्मीर में कोरोना संक्रमण से 10 वर्षीय बच्चे, बीएसएफ जवान सहित छह की मौत

जम्मू और कश्मीर ब्यूरो Updated Tue, 27 Oct 2020 01:44 AM IST
विज्ञापन

विज्ञापन मुक्त विशिष्ट अनुभव के लिए अमर उजाला प्लस के सदस्य बनें

Subscribe Now
जम्मू। जीएमसी जम्मू में कोविड संक्रमण के कारण उधमपुर में तैनात बीएसएफ 58 वर्षीय जवान की मौत हो गई। जवान मूल रूप से बेस्ट बंगाल का रहने वाला था। जीएमसी में ही बख्शीनगर निवासी 60 वर्षीय महिला और डोडा निवासी 56 वर्षीय व्यक्ति की भी मौत हुई। इसके अलावा एसएमजीएस अस्पताल जम्मू में कोविड संक्रमित एक 10 वर्षीय बच्चे की मौत हुई है। शव का जीएमसी में आरटी पीसीआर टेस्ट करवाया गया है और उसकी रिपोर्ट का रात तक इंतजार किया जा रहा था। प्रदेश में 24 घंटे में छह से अधिक मौतें हुई। इस बीच 364 नए संक्रमित मामले मिले, जबकि 627 मरीज कोरोना को मात देने में सफल रहे। इनमें जम्मू संभाग से 229 और कश्मीर से 398 मरीज ठीक हुए हैं।
जिला जम्मू में सर्वाधिक 108 नए संक्रमित मामले मिले। जिले में अब तक 249 लोगों की कोरोना संक्रमण से पीड़ित होने के कारण मौत हो चुकी है। यह आंकड़ा श्रीनगर के बाद दूसरे नंबर पर है। सोमवार को उधमपुर में 4, डोडा में 6, कठुआ में 5, पुंछ में 10, सांबामें 2, रामबन में 7, रियासी में 5 संक्रमित मामले मिले। प्रदेश में अब तक 83485 मरीज ठीक हो चुके हैं। इसमें जम्मू संभाग से 34065 और कश्मीर संभाग से 49420 मरीज हैं। सोमवार को मिले संक्रमित मामलों में जम्मू संभाग से 147 और कश्मीर से 217 मामले हैं। जम्मू कश्मीर में अब तक 92225 लोग संक्रमित हुए हैं।जिसमें वर्तमान में 7296 मामले सक्रिय हैं। इसमें जम्मू संभाग से 2274 और कश्मीर से 5022 मामले शामिल हैं। जम्मू संभाग में अब तक 480 और कश्मीर संभाग से 964 लोगों की मौत हो चुकी है।

कोरोना को हराने के बाद पीजी डॉक्टर की मौत
जम्मू। जीएमसी जम्मू के रेडियोलॉजी विभाग में कार्यरत एक युवा पीजी डॉक्टर के कोरोना का मात देने के बाद सोमवार को मौत हो गई। जीएमसी की प्रिंसिपल डॉ. शशि सूदन ने बताया कि उक्त पीजी डॉक्टर संक्रमित हुआ था, लेकिन रिकवर होने के बाद वापिस ड्यूटी पर आ गया था। इस बीच अचानक उसे बुखार और गला खराब होने की शिकायत हुई। इसमें बताया गया कि डॉक्टर को सेफ्टीसीमिया और टांसिलाइट्स होने से संक्रमण उसके शरीर में फैल गया था। इससे उसकी मौत हुई है। उसका कटड़ा के सुपर स्पेशलिटीअस्पताल में इलाज चल रहा था। वहीं, डाक्टर की मौत से जीएमसी में शोक की लहर है। जम्मू में यह पहला मामला है कि कोरोना को हराने के बाद किसी डाक्टर की अन्य बीमारी से मौत हुई है।
विज्ञापन

Recommended

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।