शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

कर्नाटक में येदियुरप्पा पर 75 पार का बैरियर लगाने में भाजपा क्यों दिखी लाचार

शशिधर पाठक, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Fri, 26 Jul 2019 06:05 PM IST
बीएस येदियुरप्पा (फाइल फोटो) - फोटो : सोशल मीडिया
पुरुषार्थ समय की धारा को बदलकर अपवाद को जन्म दे देता है। कर्नाटक के भावी मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा पर यह लाइन काफी सटीक बैठ रही है। कुछ समय बाद ही राजभवन में आनन-फानन में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले बीएस येदियुरप्पा पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का 75 साल की उम्र का बैरियर नहीं चल पाया। भाजपा के कार्यावहक अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा न तो इस मामले में साफ-साफ सफाई दे पाए और न ही उनसे कुछ साफ कहते बना।

क्यों लाचार है भाजपा?

विज्ञापन
76 साल से अधिक के हो चले बीएस येदियुरप्पा कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी पर काफी मजबूत पकड़ रखते हैं। वह कर्नाटक में कमल खिलाने वाले पहले मुख्यमंत्री रहे हैं। इस समय कर्नाटक में भाजपा के सभी अंदरुनी गुटों पर काफी भारी हैं। पूर्व भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री स्व. अनंत कुमार, केंद्रीय मंत्री सदानंद गौड़ा, भाजपा के वरिष्ठ नेता ईश्वरप्पा, श्रीरामालु, गली जनार्दन रेड्डी समेत अन्य सभी के पास मन से येदियुरप्पा का नेतृत्व स्वीकारने का ही विकल्प है। 

भाजपा के अंदरखाने के सूत्र बताते हैं कि तब येदियुरप्पा 75 साल के होने वाले थे, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें 2018 में प्रस्तावित राज्य विधानसभा चुनाव में भाजपा को जीत दिलाने के इरादे से भेजा था। प्रधानमंत्री ने येदियुरप्पा को मुख्यमंत्री बनाए जाने का आश्वासन भी दिया था। गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने साफ कर दिया था कि केवल कर्नाटक विधानसभा का चुनाव बीएस येदियुरप्पा को मुख्यमंत्री का चेहरा पेश करके लड़ा जाएगा। भाजपा ने मई 2018 में इस वादे को निभाया। जुलाई 2019 में भी इसी के तहत येदियुरप्पा को मौका दे रही है।

क्या कहा जगत प्रकाश नड्डा ने


भाजपा के कार्यवाहक अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा से जब 76 साल पार येदियुरप्पा पर 75 साल के बैरियर के बाबत पूछा गया तो नड्डा पहले चेहरे पर चिरपरिचित मुस्कान लाए। सोच-समझकर बोले कि येदियुरप्पा भाजपा के नेता हैं। वह जनता द्वारा चुने गए नेता हैं। वह विधानमंडल दल के नेता हैं। वह नेता हैं और लगातार आगे बढ़ रहे हैं। नड्डा से फिर 75 साल का ही सवाल हुआ। सवाल यह भी हुआ कि भाजपा ने 75 साल की उम्र पार करने वाले अपने बड़े-बड़े नेताओं को भी नहीं बख्शा? नड्डा फिर बोले कल तक येदियुरप्पा विधानसभा में विरोधी दल के नेता थे तो किसी ने सवाल नहीं उठाया? अब मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं तो मीडिया सवाल पूछ रही है। नड्डा ने एक लाइन और जोड़ी। उन्होंने कहा कि येदियुरप्पा आगे बढ़ रहे हैं और उनके नेतृत्व में भाजपा की स्थायी सरकार बनेगी। दरअसल, भाजपा इसे अच्छी तरह से समझती है कि जोड़-तोड़ में माहिर, स्वभाव से स्वाभिमानी, आक्रामक राजनीतिक शैली के येदियुरप्पा ही मौजूदा समय में स्थायी सरकार दे सकते हैं। भाजपा को यह भी पता है कि अवसर येदियुरप्पा को न देने पर इसका आगे परिणाम क्या होगा? 
विज्ञापन

Recommended

bs yeddyurappa karnataka crisis karnataka government karnataka bjp karnataka chief minister

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Related

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।