शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

निशंक की ओवैसी को सलाह, शिक्षानीति का मसौदा पढ़ें फिर बोलें

अमर उजाला ब्यूरो, नई दिल्ली Updated Tue, 25 Jun 2019 01:10 AM IST
रमेश पोखरियाल निशंक - फोटो : अमर उजाला
नई शिक्षा नीति केजरिये वर्तमान शिक्षा व्यवस्था में हर हाल में आमूलचूल बदलाव की घोषणा करते हुए मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि मातृ भाषा का सम्मान किये बिना कोई भी देश तरक्की नहीं कर सकता। उन्होंने इस संबंध में भ्रम फैलाने की आलोचना करते हुए कहा कि नई शिक्षा नीति में सभी भारतीय भाषाओं को सम्मान ही नहीं बल्कि हर कीमत पर सशक्त बनाया जाएगा। लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान निशंक ने एआईएमआईएम के सांसद असादुद्दीन ओवैसी को नई शिक्षा नीति का मसौदा पढने और अपने सुझाव देने की भी नसीहत दी।
विज्ञापन
निशंक ने कहा कि मातृभाषा को सम्मानित कर उन्नति से दुनिया को चौंकाने वाले चीन, जापान और इजरायल जैसे देश दुनिया के लिए उदाहरण हैं। नई नीति में सरकार शिक्षा व्यवस्था में आमूल चूल बदलाव कर देश को उन्नति के मार्ग पर ले जाना चाहती है। इसमें किसी भी क्षेत्रीय या भारतीय भाषा को कमतर करने की कोई कोशिश नहीं की जाएगी। बल्कि इन्हें सशक्त बना कर देश की प्रगति का मार्ग प्रशस्त किया जाएगा। चाहे तमिल हो या उर्दू, मलयालम या कोई अन्य भाषा, छात्रों के लिए अपने मातृभाषा के माध्यम से सहज रूप से अध्ययन करने का मार्ग प्रशस्त किया जाएगा।

त्रिस्तरीय शिक्षा व्यवस्था में हिंदी को अनिवार्य बनाए जाने संबंधी ओवैसी के सवाल के जवाब में निशंक ने उन्हें मसौदा पढने और सुझाव देने की नसीहत  दी। निशंक ने कहा कि नई नीति के लिए अभी मसौदा को सार्वजनिक कर सुझाव मांगे गए हैं। कई राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय संस्थानों-विशेषज्ञों से राय ली गई है। किसी भाषा को थोपने के बदले सरकार भारतीय भाषाओं को हर हाल में सशक्त बनाना चाहती है। हां, यह तय है कि नई नीति के जरिए सरकार वर्तमान शिक्षा व्यवस्था में आमूलचूल बदलाव करेगी। देश और छात्रों के भविष्य के लिए यह बेहद जरूरी है।
विज्ञापन

Recommended

nishank owaisi education new education policy निशंक ओवैसी शिक्षा नई शिक्षा नीति रमेश पोखरियाल निशंक

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।