शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

जो यहां जीता वो देश में जीता, जानिए देश की प्रमुख बेल वेदर सीटें

अमित शर्मा, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Sat, 20 Apr 2019 03:24 AM IST
EVM
23 मई को दुनिया के सबसे बड़े चुनाव क्या परिणाम लाएंगे, यह जानने में अभी पांच हफ्ते से अधिक का वक्त बचा है। मतगणना के दिन भी अक्सर परिणामों में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं। नतीजे वाले दिन जैसे-जैसे परिणाम आते जाते हैं, सरकार की तस्वीर साफ होती जाती है। साल 1977 के बाद से कुछ सीटें ऐसी भी हैं, जहां परिणाम पहले आ जाए तो अनुमान लगाया जा सकता है कि सरकार किसकी बनेगी। कुछ अपवादों को छोड़ दें तो यह अनुमान सही भी साबित होते हैं। ‘बेल वेदर’ कही जाने वाली इन सीटों पर राजनीति के पंडित भी नजर रखते हैं...
विज्ञापन
बेल वेदर यानी

कोई व्यक्ति, वस्तु या घटना, जो बताए कि चीजें या बदलाव कैसे होने जा रहे हैं। राजनीति की परिभाषा में बेलवेदर सीट के मायने हैं कि उक्त सीट पर जिस पार्टी या उसकी सहयोगी जीती, वह देश की सरकार भी बनाएगी। कुल मिलाकर यहां का सांसद सत्ता में रहेगा।

पहली बार 1977 में तय हुआ कि 542 लोकसभा सीटें होंगी

आजादी के बाद 1952 में पहले चुनाव हुए और फिर हर पांच वर्ष में चुनाव होते रहे। इस दौरान लोकसभा सीटें कितनी होंगी, यह हर बार आबादी के अनुसार तय होता। 1952 में 489 सीटों पर लोकसभा चुनाव हुए थे। 1971 में सीटों की संख्या 518 पहुंच गई। इस बीच 1976 में भारत में 42वां संविधान संशोधन हुआ, जिसके तहत देश में कुल 542 लोक सभा रखने का निर्णय हुआ। आज भी हम इसी पर कायम हैं सीटों की संख्या केवल एक अधिक 543 हुई है। 
विज्ञापन

Recommended

elections 2019 lok sabha election lok sabha elections 2019 lok sabha election 2019 congress bjp चुनाव चुनाव 2019 लोकसभा चुनाव 2019 लोकसभा चुनाव कांग्रेस बीजेपी

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।