शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

Coronavirus in Maharashtra: दिल्ली समेत चार राज्यों से आने वालों को निगेटिव रिपोर्ट दिखाने पर ही मिलेगा महाराष्ट्र में प्रवेश

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मुंबई Updated Mon, 23 Nov 2020 09:41 PM IST
विज्ञापन
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे - फोटो : पीटीआई (फाइल)

विज्ञापन मुक्त विशिष्ट अनुभव के लिए अमर उजाला प्लस के सदस्य बनें

Subscribe Now
महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार ने राज्य में कोरोना वायरस की स्थिति को देखते हुए सोमवार को बड़ा फैसला लिया है। इसके अनुसार अब दिल्ली, राजस्थान, गुजरात और गोवा, इन चार राज्यों से महाराष्ट्र आने वाले लोगों को राज्य में प्रवेश के लिए कोविड-19 निगेटिव रिपोर्ट दिखानी पड़ेगी। बिना निगेटिव रिपोर्ट के राज्य में प्रवेश नहीं मिल सकेगा। 


हालांकि, जिन लोगों के पास प्रदेश में प्रवेश के समय निगेटिव रिपोर्ट उपलब्ध नहीं होगी, उनके लिए भी राज्य सरकार ने व्यवस्था की है। आदेश में कहा गया है कि दिल्ली, राजस्थान, गुजरात और गोवा से राज्य में आने वाले लोगों की कोविड-19 लक्षणों के लिए जांच करेगी और जिनमें लक्षण नहीं होंगे, केवल उन्हें ही प्रवेश की अनुमति दी जाएगी।



राज्य सरकार ने कहा है कि निगेटिव रिपोर्ट के साथ ही महाराष्ट्र आने वाले सभी लोगों को कोविड-19 को लेकर निर्धारित किए गए सभी दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा। मास्क नहीं लगाए हुए पकड़े जाने पर जुर्माना भी देना होगा। इसके साथ ही राज्य सरकार दिल्ली से आने वाली ट्रेनों और उड़ानों पर प्रतिबंध लगाने पर भी विचार कर रही है।

वहीं, बृहन्मुंबई महानगरपालिका ने इन राज्यों से आने वाले लोगों के लिए जारी ताजा दिशा-निर्देशों का पालन सुनिश्चित करने के लिए मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के लिए एडवायजरी जारी की है। उधर, गोवा सरकार ने मास्क न पहनने पर जुर्माना राशि बढ़ा दी है। सीएम प्रमोद सावंत ने कहा कि मास्क न पहनने पर 200 रुपये जुर्माना लगाया जाएगा।
 
विज्ञापन

एक और लॉकडाउन पर विचार कर रही ठाकरे सरकार

दिल्ली समेत चार राज्यों से महाराष्ट्र आने वाले लोगों के लिए कोरोना निगेटिव रिपोर्ट लगाने का फैसला लेने के साथ राज्य सरकार एक और लॉकडाउन लगाने पर भी विचार कर रही है। राज्य के राहत एवं पुनर्वास मंत्री विजय वडेत्तिवार ने सोमवार को कहा कि सरकार अगले आठ दिनों में इस बात पर फैसला लेगी कि कोविड के बढ़ते मामलों पर रोक लगाने के लिए प्रतिबंध लगाए जाएंगे या पूर्ण लॉकडाउन लागू किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि लोगों की जान बचाने के लिए इस तरह के निर्णय लेने ही होंगे। मंत्री ने कहा, 'अगर जरूरत पड़ी तो पूरे अध्ययन के बाद अगले आठ दिनों में यह निर्णय लसिया जाएगा कि पूर्ण लॉकडाउन लगाने की जरूरत है या कुछ प्रतिबंधों से काम चल सकता है।' इससे पहले महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री अजित पवार ने भी रविवार को कहा था कि राज्य में लॉकडाउन लगेगा या नहीं इस पर आने वाले आठ से 10 दिन में फैसला लिया जाएगा। 
विज्ञापन

Recommended

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।