कर्नाटकः टीपू जयंती का विरोध कर रहे 150 से ज्यादा बीजेपी कार्यकर्ता हिरासत में, कोडागू में धारा 144

Home›   India News›   11 thousand policemen will be deployed in bengalore on Tipu Jayanti celebration

amarujala.com- Presented By: विकास कुमार

टीपू सुल्तानPC: File Photo

कर्नाटक सरकार ने मैसूर के शासक टीपू सुल्तान की जयंती बनाने के फैसले को लेकर पूरे राज्य के अलग-अलग जगहों पर विरोध प्रदर्शन हो रहा है। आज सुबह कोडागू में टीपू सुल्तान की जयंती के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था को बनाए रखने के लिए प्रशासन ने धारा 144 लाग दी है। इसके अलावा मदिकेरी में प्रदर्शनकारियों ने कर्नाटक राज्य सड़क परिवहन निगम की बसों पर पत्थरबाजी की।  वहीं हुबली में प्रदर्शन कर रहे 150 से ज्यादा बीजेपी कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया है। बंगलूरू में टीपू जयंती के आयोजन को सफल बनाने के लिए सरकार ने शहर में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की है।    Have detained more than 150 BJP workers in Hubli protesting against #TipuJayanti celebration: Renuka Sukumar, DCP #Karnataka — ANI (@ANI) 10 November 2017 समारोह के दौरान कोई अप्रिय घटना को अंजाम न दिया जा सके इसलिए शहर में 11 हजार पुलिसकर्मियों की तैनाती की जाएगी साथ ही शराब बिक्री पर भी पूरी तरह से रोक लगा दी गई है। पुलिस ने निर्देश जारी करते हुए कहा है कि सिर्फ सरकार द्वारा आयोजित कार्यक्रम को छोड़कर किसी को भी टीपू का जुलूस निकालने की इजाजत नहीं होगी।    Stones thrown at a Karnataka State Road Transport Corporation bus in Madikeri, during protest against Tipu Jayanti celebrations — ANI (@ANI) 10 November 2017   #Visuals of tightened security in Karnataka's Kalaburagi on #TipuJayanti pic.twitter.com/yFNxXTURLd — ANI (@ANI) 10 November 2017   Section 144 imposed in Kodagu ahead of Tipu Jayanti celebration, security tightened: District Administration #Karnataka — ANI (@ANI) 10 November 2017 ये भी पढ़ेंः टीपू सुल्तान स्वतंत्रता सेनानी नहीं, फिर क्यों मनाएं उसकी जयंती: हाईकोर्ट बंगलूरू के पुलिस आयुक्त टी सुनील कुमार ने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो हम धारा 144 भी लगा सकते हैं और जो भी कानून तोड़ेगा उसके खिलाफ खख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि कर्नाटक राज्य रिजर्व पुलिस (केएसआरपी) की 30 टुकड़ियों और 25 सशस्त्र दलों के अलावा शहर पुलिस के पुलिसकर्मियों और अधिकारियों को तैनात किया जायेगा।  आपको बता दें कि बीजेपी, कुछ दक्षिमपंथी संगठनों और कोडावा समुदाय के लोग टीपू सुल्तान की जयंती बनाने का विरोध कर रहे हैं। इन सभी का कहना है कि टीपू एक धार्मिक ‘‘कट्टरवादी’’ था। टीपू ने जबरन लोगों का धर्म परिवर्तन कर इस्लाम कबूल करवाने के लिए मजबूर कराया था। 
Share this article
Tags: tipu jayanti , karnataka , siddaramaiah , liquor sale ban , tipu sultan , bjp ,

Also Read

टीपू सुल्तान विवाद में कूदे अमित शाह, कहा-वोट बैंक की राजनीति कांग्रेस को पड़ेगी महंगी

केंद्रीय मंत्री का कर्नाटक सरकार को खत- टीपू हिंदुओं का हत्यारा, जयंती में मुझे मत बुलाना

बंगलुरु में टीपू जयंती पर विवादः काले झंडे लेकर पहुंचे बीजेपी कार्यकर्ता

Most Popular

VIDEO: कनाडा के पीएम ने दिल्ली में ऐसे किया भांगड़ा

अल्पसंख्यक संस्थान को मिली मान्यता रद्द, HRD Ministry का अधिकारी सस्पेंड

तैमूर ही नहीं, इन 10 स्टार किड्स के भी काफी यूनिक नाम, जान लीजिए उनके अर्थ

तस्वीरें: बहन से प्यार करने की दी खौफनाक सजा, इतना मारा तड़प-तड़प कर मर गया

होली के मौके पर कीजिए 990 में हवाई सफर, तीन बड़ी एयरलाइंस कंपनियों ने निकाला खास ऑफर

पांच दिन बाद किया पीएम मोदी ने ट्रूडो के लिए ट्वीट, देखिए क्या लिखा