शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

11 लाख रुपये की ठगी के आरोपी को प्रोडक्शन वारंट पर लाया गया

पंचकुला ब्‍यूरो Updated Sat, 21 Sep 2019 12:39 AM IST
बैंक मे नौकरी लगवाने का झांसा देकर एक व्यक्ति से 11 लाख रुपये की ठगी के आरोपी को पंचकूला पुलिस सोनीपत जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लाई। पुलिस ने पंचकूला में दर्ज धोखाधड़ी के मामले में आरोपी से पूछताछ की। इससे पहले कोर्ट आरोपी को दो अन्य केसों में भगौड़ा भी करार दे चुका है। बताया कि आरोपी पर सेक्टर-5 थाने में तीन एफआईआर दर्ज हैं। आरोपी सोनीपत का रहने वाला राजेश शर्मा है। दरअसल, सेक्टर-11 निवासी हरि किशन ने 2016 में पुलिस को शिकायत दी थी कि आरोपी राजेश शर्मा सेक्टर-16 में बतौर किराएदार था। आरोपी ने उनके घर आवाजाही शुरू की और दोस्ती अच्छी होती गई। कुछ समय बाद आरोपी ने शिकायतकर्ता को उनके दामाद और बेटी को बैंक में नौकरी लगवाने का झांसा दिया। इसके लिए आरोपी ने शिकायतकर्ता से 13 लाख रुपये लिए। शिकायतकर्ता ने आरोपी को उक्त रकम फरवरी 2015 में दी। फिर आरोपी ने शिकायतकर्ता को तीन महीने तक काम करवा देने का भरोसा दिया। इसके बाद आरोपी को फोन किए गए लेकिन वह लगातार टालमटोल करता रहा। इसी बीच आरोपी व उसकी पत्नी ने हरि किशन के जानकार कैलाश वशिष्ठ को उनके भांजे को एयरपोर्ट पर नौकरी लगवाने का झांसा देकर उनसे कुरुक्षेत्र में दो लाख रुपये लिए। लेकिन आरोपी कई तरह के बहाने बनाकर टालमटोल करता रहा। आरोपी ने उन्हें उसकी बहन के बैंक में डायरेक्टर होने का झांसा दिया। फिर उसने उन्हें कालका शाखा में नौकरी लगवाने का झांसा दिया। लेकिन काम नहीं होता देख शक होने पर हरि किशन और उनके परिवार ने आरोपी के भाई से बातचीत की, तब जाकर उन्हें पता लगा कि राजेश शर्मा लोगों से धोखाधड़ी करता है। आरोपी के भाई ने शिकायतकर्ता को बताया कि वह कई लोगों से पैसे ले चुका है।
विज्ञापन
आरोपी का चेक हुआ बाउंस
हरि किशन के पैसे वापिस मांगने पर आरोपी ने उन्हें छह लाख रुपये का एक चेक दिया। शिकायतकर्ता ने चेक कैश करवाने को बैंक में लगवाया तो वह बाउंस हो गया। फिर भी आरोपी के पैसे नहीं लौटाने पर हरि किशन ने सेक्टर-5 थाना पुलिस को आरोपी के खिलाफ शिकायत दी। पुलिस ने अदालत से आरोपी का दो दिन का रिमांड हासिल किया था। रिमांड अवधि पूरी होने पर कोर्ट ने आरोपी को न्यायिक हिरासत में भेजा।
विज्ञापन

Recommended

crime

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।