बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

शहर चुनें

ऋचा चड्ढा को ऑस्ट्रेलिया से मिला जूरी सदस्य बनने का न्यौता, बोलीं, अनोखे विषय पर अद्भुत फिल्मों का इंतजार रहेगा

अमर उजाला ब्यूरो, मुंबई Published by: विजयाश्री गौर Updated Thu, 08 Jul 2021 04:37 PM IST

सार

  • ऋचा चड्ढा को आईएफएफएम में से मिला जूरी सदस्य बनने का न्यौता
  • 12 से 21 अगस्त तक सिनेमाघरों में और 15 से 30 अगस्त तक ऑनलाइन आयोजित होगा फेस्टिवल
  • राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता ओनिर भी ज्यूरी लिस्ट में शामिल
विज्ञापन
ऋचा चड्ढा - फोटो : अमर उजाला, मुंबई

विस्तार

अभिनेत्री ऋचा चड्ढा को देश विदेश के प्रतिष्ठित फिल्म समारोहों में अक्सर ही देखा गया है। वह इन समारोहों की जूरी की सदस्य भी बनती रही हैं। इस क्रम में अगली कड़ी दुनिया के सबसे बड़े भारतीय फिल्म समारोहों में से एक की जूरी सदस्य के रूप में जुड़ने वाली है। पिछले साल मेलबर्न 2020 के वर्चुअल इंडियन फिल्म फेस्टिवल ऑफ मेलबर्न की सफलता के बाद ये फेस्टिवल अगले महीने ऑनलाइन और सिनेमाघरों दोनों में फिल्मों के शौकीनों की मेजबानी के लिए तैयार है। ये फेस्टिवल 12 से 21 अगस्त तक सिनेमाघरों में और 15 से 30 अगस्त तक ऑनलाइन आयोजित होगा। फेस्टिवल के प्रविष्टियां मंगाने का काम शुरू हो चुका है। इस साल की शॉर्ट फिल्म प्रतियोगिता के लिए जूरी में राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता फिल्मकार ओनिर के साथ अभिनेत्री ऋचा चड्ढा भी शामिल रहेंगी।
विज्ञापन

ऋचा चड्ढा - फोटो : सोशल मीडिया
इस वर्ष की शॉर्ट फिल्म प्रतियोगिता का विषय आधुनिक गुलामी और समानता है। अपनी स्थापना के बाद से IFFM समानता, स्वतंत्रता और समावेश के सिद्धांतों को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है। शॉर्ट फिल्म प्रतियोगिता के लिए इस वर्ष की थीम का उद्देश्य समकालीन दुनिया में इन सिद्धांतों के खतरों को दूर करना है। फिल्म फ्रीवे के माध्यम से शॉर्ट फिल्म जमा की जानी हैं। जमा करने की अंतिम तिथि 20 जुलाई है। इस प्रतियोगिता के पिछले विजेताओं में कॉलिन डी'कुन्हा (दोस्ताना 2), वरुण शर्मा (बंटी और बबली 2) और मंज मखीजा (स्केटर गर्ल) जैसे फिल्मकार शामिल हैं।
विज्ञापन

ऋचा चड्ढा - फोटो : अमर उजाला, मुंबई
जूरी का हिस्सा बनने पर ऋचा चड्ढा कहती हैं, "जूरी सदस्य के रूप में IFFM शॉर्ट फिल्म फेस्टिवल 2021 का हिस्सा बनना एक अलग एहसास है। यहां फिर से आना, लेकिन इस बार एक जज के रूप में, बहुत रोमांचक है। हमें यकीन है कि आधुनिक दासता और समानता के विषय पर कुछ अच्छी लघु फिल्में इस बार देखने को मिलेंगी। दोनों जटिल विषय हैं। लेकिन, मुझे पता है कि कम समय में पूरी कहानी बताना कितना मुश्किल है, वह भी इतना महत्वपूर्ण विषय इसलिए मैं वास्तव में इस वर्ष सभी लघु फिल्म प्रविष्टियों की प्रतीक्षा कर रहा हूं।"
विज्ञापन

Latest Video

Recommended

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।