शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

जितनी बार तोड़ा सिग्नल, उतनी बार कटेगा चालान

गाजियाबाद ब्यूरो Updated Tue, 18 Jun 2019 12:51 AM IST

विज्ञापन
जितनी बार तोड़ा सिग्नल, उतनी बार कटेगा चालान

गाजियाबाद। अब यातायात नियमों का उल्लंघन करना लोगों को भारी पडे़गा। लोग जितनी बार सिग्नल तोड़ेंगे, उतनी बार उनका चालान कटेगा। महानगर की यातायात व्यवस्था में सुधार लाने के लिए लागू होने जा रहे इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम (आईटीएमएस) में यातायात नियमों का कड़ाई से पालन किया जाएगा। आईटीएमएस प्रोजेक्ट की दौड़ में शामिल तीन कंपनियों ने जीडीए सभागार में लाइव प्रेजेंटेशन दिया। इसके लिए नवयुग मार्केट के सामने सेठ मुकंदलाल तिराहे की रेड लाइट पर उच्च क्षमता के कैमरे लगाए गए थे।
आईटीएमएस के तकनीकी प्रजेंटेशन के बाद तकनीकी में श्रेष्ठ कंपनी का चुनाव कर माह के अंत तक वर्कआर्डर कर दिए जाएंगे। इसके बाद जुलाई माह से सिस्टम का काम शुरू होगा। 55 करोड़ के प्रोजेक्ट में 45 करोड़ जीडीए और 10 करोड़ नगर निगम खर्च करेगा। काम शुरू होने के नौ माह के भीतर काम पूरा करने की समयसीमा तय की गई है। आईटीएमएस प्रजेंटेशन के दौरान जीडीए उपाध्यक्ष कंचन वर्मा, एसपी सिटी श्लोक कुमार, एसपी ट्रैफिक एसएन सिंह, जीडीए मुख्य अभियंता विवेकानंद सिंह, सीएटीपी इश्तियाक अहमद, निगम चीफ इंजीनियर मोइनुद्दीन सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे। आईटीएमएस प्रजेंटेशन के लिए सेठ मुकंदलाल तिराहेपर हाई रिज्योल्यूशन कैमरा, रेड लाइट वाइलेशन डिटेक्शन सहित ट्रैफिक सर्विलांस से जुड़ी अन्य मशीनें लगाई गइ। कंपनी टेक्नो सिस के निदेशक नीरज कुशवाहा ने बताया कि आईटीएमएस में ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों पर अंकुश लगाने को शहर के प्रमुख 15 चौराहों व तिराहों को रेड लाइट वाइलेशन डिटेक्शन (आरएलवीडी) जंक्शन बनाया जाएगा। सभी दो पहिया, चार पहिया, ट्रक व व्यावसायिक वाहनों पर नजर रखने के लिए 110 हाई रिजोल्यूशन ट्रैफिक सर्विलांस (पीटीजेड) और 300 व्हीकल डिटेक्शन सीसीटीवी कैमरा लगेंगे। कुल ट्रैफिक सिग्नल जक्शन में 82 व 28 स्थानों को सर्विलांस जक्शन में शामिल किया गया है। ऐसे में अगर कोई व्यक्ति रेड सिग्नल को तोड़ता है तो तुरंत चालान कट जाएगा। फिर आगे जितनी बार उसकी ओर से यातायात नियमाें का उल्लंघन किया जाता है, उतनी बार व्यक्ति का चालन कटेगा। सिग्नल तोड़ने या फिर बगैर हेलमेट के होने पर कैमरे नंबर प्लेट को तुरंत पकड़ लेंगे। सिस्टम में 30 दिन के वीडियो व फोटो का बैकअप रहेगा।

---
पांच दशाओं में तोड़े नियम तो डीएल होगा निरस्त
आईटीएमएस में यातायात नियमों तोड़ने पर व्यक्ति को कोई रियायत नहीं मिलेगी। पांच दशाओं में अगर कोई व्यक्ति तीन बार सिग्नल तोड़ता है तो उसका डीएल निरस्त होना तय है। इनमें लाल बत्ती को जंम्प करने, विपरीत दिशा में वाहन चालने, मोबाइल फोन पर बात करते हुए वाहन चलाने, शराब पीकर वाहन चलाने और कॉमर्शियल वाहन में नियम विरुद्ध यात्रियों को बिठाने के मामले में आपका ड्राइविंग लाइसेंस निरस्त हो सकता है। पहले व दूसरी बार नियम तोड़ने पर डीएल ऑनलाइन लाइन में आ जाएगा। तीसरी बार नियम तोड़ने पर डीएम निरस्त हो जाएगा।
---
2000 वर्ग मीटर एरिया में मेरठ रोड पर बनेगा कमांड सेंटर
आईटीएमएस का मेरठ रोड तिराहे पर 2000 वर्ग मीटर एरिया में ट्रैफिक कमांड सेंटर बनाया जाएगा। यहां 70-70 इंच की 16 स्क्रीन लगाई जाएंगी। ट्रैफिक पुलिस के पास कमांड सेंटर के साथ पूरे आईटीएमएस के संचालन का जिम्मा होगा। जीडीए की ओर से फाइनल की जाने वाली एजेंसी को पांच साल तक पूरे सिस्टम के मेंटेनेंस का जिम्मा होगा। इसके बाद यह सिस्टम ट्रैफिक पुलिस को हैंडओवर कर दिया जाएगा।
---
पांच साल मरम्मत करेगी कंपनी, चलेंगे जागरूकता कार्यक्रम
आईटीएमएस में चुनी जाने वाली कंपनी के पास पांच साल तक पूरे सिस्टम के मरम्मत का जिम्मा रहेगा। वहीं सिस्टम को शुरू करने से पहले स्कूल, डिग्री कॉलेज, इंजीनियरिंग कॉलेजों की मदद से शहर में जागरूकता कार्यक्रम संचालित किए जाएंगे। सिस्टम की शुरुआत में एक माह केवल लोगों को तकनीकी की जानकारी व सिस्टम की जानकारी देने केलिए रियायत रहेगी। इसके बाद नियम तोड़ने पर कार्रवाई के लिए तैयार रहना होगा।
---
सबसे पहले एलिवेटेड रोड पर लगेंगे स्पीड रडार
सिस्टम में सबसे पहले एलिवेटेड रोड पर तेज रफ्तार वाहनों पर लगाम लगाने को स्पीड रडार सिस्टम और नंबर प्लेट पढ़ने वाले हाई रिलॉल्यूशन उच्च क्षमता के .265 लेटेस्ट सीसीटीवी कैमरा लगेंगे।
----
विज्ञापन

Recommended

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।