शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

राजकीय सम्मान के साथ पंचतत्व में विलीन हुए अरुण जेटली, तमाम नेताओं ने नम आंखों से दी श्रद्घांजलि

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Sun, 25 Aug 2019 06:53 PM IST
पंचतत्व में विलीन हुए अरूण जेटली - फोटो : अमर उजाला

खास बातें

-दिल्ली के निगम बोध घाट पर उनके बेटे रोहन ने मुखाग्नि दी
-अंतिम विदाई के वक्त कांग्रेस सहित तमाम विपक्षी दलों के शीर्ष नेता भी मौजूद रहे
-श्रद्घांजलि देने के बाद दोनों हाथ जोड़कर खड़े वैंकेया नायडू भावुक हो उठे
पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली रविवार को राजकीय सम्मान के साथ पंचतत्व में विलीन हुए। दिल्ली के निगम बोध घाट पर उनके बेटे रोहन ने मुखाग्नि दी। इस दौरान उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू, गृहमंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा सहित कई राज्य के मुख्यमंत्री और कैबिनेट मंत्रियों के अलावा कई भाजपा सांसद मौजूद रहे। दोपहर तीन बजे अंतिम विदाई के वक्त कांग्रेस सहित तमाम विपक्षी दलों के शीर्ष नेता भी मौजूद रहे। 

इससे पहले रविवार सुबह कैलाश कॉलोनी स्थित जेटली आवास से अरुण जेटली का पार्थिव शरीर डीडीयू मार्ग स्थित भाजपा मुख्यालय ले गया। इस दौरान रास्ते में जगह जगह अरुण जेटली के समर्थकों ने भावभीनी श्रद्घांजलि उन्हें दी। जब तक सूरज चांद रहेगा अरुण तेरा नाम रहेगा...अरुण जेटली अमर रहे...। 

करूण स्वरों में समर्थक ये नारे लगाते उनके पीछे चल रहे थे। भाजपा मुख्यालय पर सुबह साढ़े 10 बजे अरूण जेटली का पार्थिव शरीर पहुंचा। इस दौरान भाजपा के तमाम बड़े नेताओं सहित कार्यकर्ताओं ने उन्हें श्रद्घांजलि दी। दोपहर करीब सवा बजे मुख्यालय से निगम बोध घाट तक अंतिम यात्रा निकाली गई। इस पूरे रास्ते में सड़कों पर जगह जगह अरुण जेटली को श्रद्घांजलि देने के होर्डिंग लगे हुए थे। 
विज्ञापन

पंचतत्व में विलीन हुए अरुण जेटली - फोटो : अमर उजाला
गेंदे और गुलाब के फूलों से सजी तोप गाड़ियों के जरिए उनके पार्थिव शरीर को अंतिम संस्कार के लिए निगम बोध घाट तक ले जाया गया। बीते शनिवार 66 वर्षीय अरुण जेटली ने एम्स के कार्डिएक न्यूरो सेंटर में अंतिम सांस ली थी। वे यहां बीते 9 अगस्त से सांस में तकलीफ होने के कारण भर्ती हुए थे।

शुक्रवार रात आंतों में रक्तस्त्राव होने के चलते शरीर में संक्रमण फैलने और दिल का दौरा पडने से मौत हुई थी। निधन के बाद उनके पार्थिव शरीर को कैलाश कॉलोनी स्थित आवास पर अंतिम दर्शन के लिए रखा गया था जहां राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, कांग्रेस की सोनिया गांधी, राहुल गांधी ने श्रद्घांजलि दी थी। 

ये भी पढ़ेंः कभी केजरीवाल व जेटली के रिश्तों में थी तल्खी, दिल्ली के सीएम को मांगनी पड़ी थी माफी

निगम बोध घाट पर अंतिम संस्कार के वक्त महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस, गुजरात के सीएम विजय रूपाणी, हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर, उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र रावत, कर्नाटक के सीएम येदियुरप्पा, बिहार के सीएम नीतीश कुमार, झारखंड के सीएम रघुबर दास, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, केंदीय मंत्री रामविलास पासवान, केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, दिल्ली भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी, रामदास आठवले, दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, प्रकाश जावड़ेकर, मुख्तार अब्बास नकवी, गौतम गंभीर जैसे बीजेपी के कई दिग्गज नेता मौजूद थे। 

जब छलक उठे वैंकेया नायडू की आंखों में आंसू

अरुण जेटली के अंतिम संस्कार में पहुंचे नेतागण - फोटो : अमर उजाला
भाजपा मुख्यालय से अंतिम यात्रा निगम बोध घाट पहुंचने के बाद पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली को श्रद्घांजलि देने के लिए जब उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू आगे आए तो वे काफी मायूस थे। श्रद्घांजलि देने के बाद दोनों हाथ जोड़कर खड़े वैंकेया नायडू भावुक हो उठे और वे अपनी आंखों से आंसूओं को निकलने से रोक नहीं सके। उनकी आंखों से लगातार आंसू बाहर आ रहे थे। उन्हें देख वहां मौजूद कई नेता भी भावुक हो गए। 

ये भी पढ़ेंः अरुण जेटली के निधन की वजह कैंसर नहीं कुछ और, एम्स के डॉक्टर ने बताई असली वजह

कई राज्यों से अंतिम दर्शन करने पहुंचे समर्थक

पंचतत्व में विलीन हुए अरुण जेटली - फोटो : अमर उजाला
पूर्व वित्त मंत्री अरूण जेटली के अंतिम दर्शन करने के लिए दिल्ली के अलावा हरियाणा, यूपी, बिहार, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, मध्यप्रदेश से काफी संख्या में समर्थक भाजपा मुख्यालय पहुंचे थे। यहां पंक्ति में खड़े होकर उन्होंने श्रद्घांजलि देने के बाद निगम बोध घाट पर जेटली को अंतिम विदाई भी दी। इस दौरान समर्थकों में कई आपस में चर्चा करते हुए अरूण जेटली से जुड़े यादों को साझा कर रहे थे।
विज्ञापन

Recommended

arun jaitley arun jaitley last rites bjp headquarter nigam bodh ghat

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।