शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

दिल्ली एम्स में 10 साल से बिना वेतन इलाज कर रहे 70 विदेशी डॉक्टर, जीवनयापन हुआ मुश्किल

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Tue, 22 Oct 2019 04:34 AM IST
एम्स दिल्ली - फोटो : सोशल मीडिया
अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में हर दिन सैकड़ों मरीजों का उपचार करने वाले विदेशी रेजीडेंट डॉक्टर बीते कई वर्षों से जीरो वेतन पर काम कर रहे हैं। इन्हें न तो किसी तरह का वेतन मिलता है और न ही आर्थिक सहायता। दिल्ली जैसे मेट्रो शहर में अपने परिवार के साथ इनका जीवनयापन अब मुश्किल में पड़ गया है। इसलिए नेपाल सरकार ने भी पीएमओ से इस मामले में दखल देने की अपील की है।
विज्ञापन
दिल्ली एम्स में इस समय करीब 70 से ज्यादा विदेशी डॉक्टर हैं, जो सीनियर और जूनियर रेजीडेंट पद पर हैं। इनमें से ज्यादातर नेपाल के रहने वाले हैं। कुछ बांग्लादेश और श्रीलंका के हैं। इन डॉक्टरों का कहना है कि वर्ष 2009 तक दिल्ली एम्स में विदेशी डॉक्टर को वेतन दिया जाता था, लेकिन 10 वर्षों से वे निशुल्क सेवाएं दे रहे हैं, जबकि इन्हीं पदों पर भारतीय डॉक्टर को करीब 80 हजार से एक लाख रुपये तक का मासिक वेतन सरकार दे रही है।

उधर, एम्स प्रबंधन के अधिकारियों ने भी इस समस्या की पुष्टि की है। एम्स प्रबंधन के अनुसार, इसे लेकर जल्द ही राहत दी जाएगी। एम्स की वित्तीय समिति की आगामी बैठक में इस पर फैसला लिया जाएगा।

सीनियर रेजीडेंट डॉक्टर देवाशीष दास ने बताया कि दिल्ली एम्स, चंडीगढ़ पीजीआई और पुड्डुचेरी स्थित जेआईपीएमईआर सहित कई बड़े मेडिकल कॉलेजों में करीब 100 से ज्यादा नेपाल के डॉक्टर कार्यरत हैं। नेपाली रेजीडेंट डॉक्टर भी अस्पताल में भारतीय की भांति सेवाएं देते हैं। बावजूद, इन्हें वेतन या अन्य कोई भत्ता नहीं मिलता है, जबकि नेपाल के मेडिकल कॉलेजों में भारत से पहुंचे डॉक्टरों को बराबर वेतन मिलता है।

डॉ. अंसरूल हक का कहना है कि नेपाल सरकार ने भी इसे लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पैरवी की है, जिसके बाद मंत्रालय से एम्स को निर्देश भी मिले हैं। वहीं, चंडीगढ़ पीजीआई ने भी इस पर काम शुरू कर दिया है, लेकिन मंद गति से सरकारी काम चल रहा है।

दिल्ली एम्स में कार्यरत जूनियर रेजीडेंट को कुल 88,032 रुपये मासिक वेतन मिलता है। इसमें 10,745 रुपये के आसपास कटौती की जाती है। यानी, उन्हें कुल 77,287 रुपये का वेतन प्राप्त होता है। ठीक इसी तरह सीनियर रेजीडेंट को कुल 101,741 में 10,745 की कटौती के बाद 90,996 रुपये मासिक वेतन मिलता है। विदेशी नागरिकता वाले डॉक्टर को ये सहायता नहीं मिल रही है।
विज्ञापन

Recommended

aiims delhi doctor

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।