शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

उत्तराखंड के नौ मैदानों पर होंगे बीसीसीआई के मुकाबले, 17 अगस्त को दलीप ट्रॉफी के साथ होगी शुरुआत

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Updated Wed, 17 Jul 2019 08:50 AM IST
- फोटो : प्रतीकात्मक तस्वीर
बीसीसीआई के घरेलू सत्र में उत्तराखंड के नौ मैदानों पर विभिन्न प्रतियोगिताओं के मुकाबले खेले जा सकते हैं। बीसीसीआई सेंट्रल जोन के हेड क्यूरेटर ने प्रदेश के मैदानों का निरीक्षण करने के बाद नौ को आयोजन के लिए उपयुक्त पाया है। इन सभी को कमियों में सुधार और व्यवस्थाएं बेहतर बनाने के निर्देश दिए गए हैं, जिसके बाद कमेटी इसे अप्रूव्ड करेगी। 

बीसीसीआई का घरेलू सत्र इस वर्ष 17 अगस्त को दलीप ट्रॉफी के साथ शुरू होने जा रहा है। बीसीसीआई ने अभी तक प्रतियोगिताओं के फिक्सचर जारी नहीं किए हैं। पिछले वर्ष उत्तराखंड को रणजी समेत अन्य प्रतियोगिताओं के कई मुकाबलों की मेजबानी मिली थी।

तब रायपुर स्थित अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम, अभिमन्यु क्रिकेट एकेडमी, सेलाकुई इंटरनेशनल स्कूल, तनुष क्रिकेट एकेडमी समेत कुछ अन्य मैदानों पर मुकाबले खेले गए थे। इस वर्ष प्रदेश में आयोजन स्थलों की संख्या बढ़कर नौ तक हो सकती है। 

बीसीसीआई सेंट्रल जोन के हेड क्यूरेटर आशीष भौमिक ने प्रदेश में मैदानों का जायजा लेने के बाद अभिमन्यु क्रिकेट स्टेडियम, रायपुर अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम, तनुष क्रिकेट एकेडमी, स्पोर्ट्स कॉलेज देहरादून, कसीगा इंटरनेशनल स्कूल, सेलाकुई इंटरनेशनल स्कूल, दून क्रिकेट एकेडमी कुआंवाला, हाईलैंडर क्रिकेट एकेडमी काशीपुर और मलखानी क्रिकेट ग्राउंड हल्द्वानी को आयोजन के लिए उपयुक्त बताया है।
विज्ञापन

हालांकि विकेट, आउटफील्ड, सुपर सोपर, रोलर, ग्रास कटर, कवर्स समेत कई अन्य महत्वपूर्ण मसलों पर उन्होंने सुधार की नसीहत भी दी है। सूत्रों के अनुसार बीसीसीआई इन मैदानों में उत्तराखंड को आयोजन की मेजबानी दे सकती है।  

पिच क्यूरेटरों को दिया प्रशिक्षण
बीसीसीआई की ओर से प्रदेश के पिच क्यूरेटरों के लिए दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित की गई। सेलाकुई इंटरनेशनल स्कूल में आयोजित कार्यशाला में ईस्ट जोन के हेड क्यूरेटर तापोश चटर्जी ने सभी क्यूरेटर को विकेट और मैदान के रखरखाव की जानकारी दी।

साथ ही आउटफील्ड, कवर, रोलिंग, पानी को लेकर भी जानकारी दी। उन्होंने बीसीसीआई मानकों के अनुसार विकेट और मैदान तैयार करने के संबंध में प्रशिक्षण दिया। बीसीसीआई समन्वयक अमित पांडे ने कहा कि क्यूरेटर बीसीसीआई मानकों को ध्यान में रखकर काम करें तो अगले दो से तीन वर्षों में राज्य में कई विश्वस्तरीय मैदान तैयार हो सकते हैं। 
विज्ञापन

Recommended

uttarakhand cricket cricket cricket news uttarakhand news bcci उत्तराखंड क्रिकेट क्रिकेट बीसीसीआई

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।