शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

भाजपा की 'सर्जिकल स्ट्राइक' ने तोड़ दी इनेलो की कमर, 10 विधायकों को बना दिया भगवाधारी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Sat, 10 Aug 2019 11:41 AM IST
इनेलो नेता अभय चौटाला
हरियाणा विधानसभा चुनाव से पहले इनेलो को भाजपा ने चारों खाने चित कर दिया है। परिवार व पार्टी में टूट का सामना कर रहा इनेलो, भाजपा का सर्जिकल स्ट्राइक को सहन ही नहीं कर पाया। पार्टी अपने विधायकों और बड़े नेताओं को भगवाधारी बनने से रोक ही नहीं पाई। लोकसभा चुनाव के परिणाम के बाद तो इनेलो विधायकों के भाजपा में जाने की होड़ ही मच गई। एक के बाद एक दस विधायक अब तक भाजपा में शामिल हो चुके हैं। नेता प्रतिपक्ष का दर्जा तो अभय चौटाला से पहले ही छिन गया था।

विधानसभा के मानसून सत्र के दौरान तीन और विधायकों के भाजपाई होने से विधायक दल के नेता से भी हाथ धोने पड़ गए। इनेलो में रहकर जजपा का समर्थन कर रहे चार विधायकों ने अलग से राजदीप फौगाट को विधायक दल का नेता चुनकर अभय चौटाला को तगड़ा झटका दिया है। अभय बेशक भाजपा में बिना इस्तीफा देकर गए और जजपा का समर्थन कर रहे विधायकों पर दलबदल कानून के तहत कार्रवाई की मांग कर रहे हैं, लेकिन स्पीकर ने अब तक फैसला नहीं सुनाया है।

13 अगस्त को स्पीकर अपना फैसला देने वाले हैं। इनेलो को अहीरवाल में में भाजपा ने दो बड़े झटके दिए हैं। पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपी चंद गहलोत और पूर्व मंत्री जगदीश चंद यादव को भी भाजपा अपने पाले में ले आई है। ऐसे में भाजपा की विधानसभा चुनाव की राह बेहद कठिन हो गई है। चुनाव आचार संहिता लागू होने से पहले इनेलो को भाजपा और भी झटके दे सकती है।
विज्ञापन

अब तक भाजपा में शामिल हुए इनेलो विधायक

जाकिर हुसैन, केहर सिंह रावत, परमिंद्र ढुल, बलवान सिंह दौलतपुरिया, रणवीर गंगवा, मक्खन लाल सिंगला, रामचंद कंबोज, नसीम अहमद, नगेंद्र भड़ाना, प्रो. रविंद्र बलियाला।

हम राज बनाने वालों में, जाने वालों की चिंता नहीं : अभय
इनेलो के प्रधान महासचिव अभय चौटाला का कहना है कि वह राज बनाने वालों में हैं। इनेलो छोड़कर जाने वालों की उन्हें चिंता नहीं है। उनकी चिंता वे दल करे, जिसमें इनेलो के गद्दार शामिल हुए हैं। विधानसभा चुनाव में पार्टी अपना बेहतर प्रदर्शन करके दिखाएगी।
विज्ञापन

Recommended

bjp inld surgical strike haryana assembly elections

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Related

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।