शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

56 सरकारी कंपनियों की हालत सबसे खस्ता, टॉप पर एयर इंडिया

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला Updated Mon, 15 Jul 2019 04:45 PM IST
देश में खस्ताहाल सरकारी कंपनियों की संख्या पिछले तीन साल से लगातार बढ़ती जा रही है। जहां 2015-16 ऐसी कंपनियों की संख्या 48 थी, वहीं 2017-18 में यह बढ़कर 56 हो गई है। इन सब कंपनियों में एयर इंडिया पहले पायदान पर है।  

इन कंपनियों की हालत सबसे ज्यादा खस्ता

इन 56 कंपनियों में जिनकी हालत सबसे ज्यादा खस्ता हुई है उनमें एयर इंडिया एक्सप्रेस, एयर इंडिया इंजीनियरिंग सर्विसेज लिमिटेड, भारत कोकिंग कोल लिमिटेड, भेल इलेक्ट्रिकल मशीन लिमिटेड और एमटीएनएल शामिल हैं। इन सभी 56 कंपनियों की नेटवर्थ 2017-18 में माइनस 88,556 करोड़ रुपये रही। वहीं इनका कुल नुकसान एक लाख 32 हजार 360 करोड़ रुपये रहा। 

सबसे ज्यादा एयर इंडिया को घाटा

इन तीन सालों के दौरान एयर इंडिया का घाटा सबसे शीर्ष पर रहा। कंपनी की नेटवर्थ माइनस में 24,893 करोड़ रुपये रही, वहीं नुकसान 53,914 करोड़ रुपये का रहा। भारी उद्योग मंत्री अरविंद गणपत सावंत ने कहा कि पीएसयू विभाग ने रिवाइवल और रिस्ट्रक्चरिंग पर जोर दिया है। सरकार अपनी तरफ से ऐसी कंपनियों में फिर से पैसा कमाने के नए तरीकों पर काम कर रही है। 

इन कंपनियों के रिवाइवल को दी मंजूरी

सरकार ने छह कंपनियों के रिवाइवल को अपनी मंजूरी दे दी है। इनमें ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजल निगम लिमिटेड, हिंदुस्तान स्टीलवर्क्स कंस्ट्रक्शन लिमिटेड, रिचार्डसन एंड क्रूडडास लिमिटेड, नेपा लिमिटेड, हुगली प्रिंटिंग लिमिटेड और कोंकण रेलवे निगम लिमिटेड शामिल हैं।
विज्ञापन

Recommended

psu companies air india mtnl parliament sick companies सरकारी कंपनियां एयर इंडिया एमटीएनएल संसद बीमारू कंपनियां

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।