एक मुंह से जुड़े दो शरीर, कॉनज्वाइंड ट्विन्स का अनोखा मामला

Home›   Science Wonders›   conjoined twins by head

टीम ‌डिजिटल

conjoined twins by headPC: daily mail

कॉनज्वाइंड ट्विंस के पैदा होने की संख्या कम है। पचास हजार बच्चों में से दो बच्चे ही ऐसे होते हैं जो कॉनज्वाइंड ट्विंस हों। ऐसे बच्चों को साइमीज ट्विंस भी कहते हैं। ऐसे ही बच्चे हाल ही में राजकोट, गुजरात के पंडित दीनदयाल उपाध्याय गर्वनमेंट मेडिकल कॉलेज में पैदा हुए। लेकिन वो केवल छह मिनटों तक ही जी सके। इन बच्चों को सिजेरियन से गर्भ से बाहर निकाला गया था। बच्चों की मां का सात महीनों तक कोई अल्ट्रासाउंड या स्कैन नहीं हुआ था। इस वजह से कई दिनों तक ये पता ही नहीं चल पाया कि गर्भ में कॉनज्वाइंड ट्विंस पल रहे हैं। डॉक्टरों ने बच्चों को पैदा करवाने के बाद ही कह दिया था कि  ये जिंदा नहीं रह पाएंगे।  दोनों बच्चों के सिर, दिमाग एक ही थे। पर धड़ से दोनों अलग थे। गायनोकॉलोजी का ये देश में दुर्लभ मामला था। बच्चों की मां को उनकी मौत के बाद हॉस्पिटल से अगले दिन ही डिस्चार्ज कर दिया गया। बच्चों के पिता ने बच्चों के अंग को दान देने की बात कही। मेडिकल रीसर्च के लिए बच्चों के अंदरूनी अंग जो ठीक थे, उन्हें दान दे दिया जाएगा।  
Share this article
Tags: weird news , weird people stories , weird medical science ,

Also Read

कपड़े के अंदर सिहरन दे देंगे इनके बदन, फिर भी फक्र से अपनाया

लगातार पांच सालों तक चले इस लड़की के पीरियड्स

मुंह के अंदर भरने पड़े गुब्बारे, खास इलाज से लौट सकेगी सुंदरता

सिर के पीछे एक और सिर जितना सिस्ट! विचलित ना हों तो बढ़ें

Most Popular

एक्स ब्वॉयफ्रेंड ने देखी अनुष्‍का की हनीमून फोटो, फिर तुरंत दिया कुछ ऐसा रिएक्‍शन

अनुष्‍का-विराट की हनीमून फोटो पर 1 घंटे में 9 लाख से ज्यादा लाइक, तेजी से हो रही वायरल

बेटी के बैग में इस्तेमाल हुए कंडोम देख मां ने कर दिया केस, अब कोर्ट ने लिया ऐसा फैसला

विराट-अनुष्का की शादी में एक मेहमान का खर्च था 1 करोड़, पूरी शादी का खर्च सुन दिमाग हिल जाएगा

शाहरुख-सलमान को छोड़िए, इस स्टार की कमाई है 32 अरब, गरीब दोस्तों को दान कर दिए 6-6 करोड़ रुपए

संसद परिसर में हुआ कुछ ऐसा कि आडवाणी के लिए भीड़ से बाहर आए राहुल और पकड़ लिया उनका हाथ