बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

टेस्ट ट्यूब बेबी को मिलेंगे दो लाख

Rampur Updated Mon, 15 Oct 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

रामपुर। टेस्ट ट्यूब बेबी के लिए अब नि:संतान सरकारी मुलाजिमों को आर्थिक संकट से जूझना नहीं पड़ेगा। उनकी मद्द के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय खड़ा हो गया है। मंत्रालय ने केंद्रीय कर्मियों को टेस्ट ट्यूब बेबी के लिए दो लाख रुपये तक की मद्द देने की घोषणा की है। इसके लिए बाकायदा आदेश भी जारी कर दिया गया है। यह आदेश सभी प्रदेशों में तैनात कर्मियों पर लागू होगा।
विज्ञापन

नि:संतान रहना अब कोई अभिशाप नहीं रह गया है। साइंस के इस दौर में टेस्ट ट्यूब विधि के जरिए नि:संतान रहने के अभिशाप को दूर किया जा सकता है। हालांकि टेस्ट ट्यूब बेबी की विधि अपनाना आज भी काफी महंगा साबित होता है। आम आदमी की पकड़ से दूर रहने वाली इस विधि को सरल बनाने का काम अब केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने किया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने उन केंद्रीय कर्मियों का आर्थिक संकट दूर करने का फैसला लिया है जो आर्थिक संकट के चलते टेस्ट ट्यूब विधि को अपनाने से हिचकते रहे हैं। मंत्रालय ने एक आदेश जारी करते हुए उन केंद्रीय कर्मियों को राहत देने की घोषणा की है जो नि:संतान होने की वजह से परेशान हैं। आदेश के मुताबिक यदि कोई केंद्रीय कर्मी टेस्ट ट्यूब बेबी के जरिए बच्चा पैदा करना चाहता है तो उसे सरकार की ओर से मद्द दी जाएगी। इसके लिए शर्तें भी रखी गई हैं। इस योजना का लाभ पाने वाले कर्मियों को उनकी पत्नी की उम्र 39 साल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। यही शर्त महिला कर्मियों के लिए रखी गई है। कर्मियों को कुल 1.95 लाख रुपये बतौर मदद दिए जाएंगे। इसकी पहली किश्त के रूप में 65 हजार रुपये दिए जाएंगे। इसके लिए अपने विभाग को एक फार्म भरकर देना होगा। इस फार्म के आधार पर विभागीय अफसरों की संस्तुति की जाएगी और फिर सेहत महकमे को इसकी प्रति भेजी जाएगी। इसी आधार पर डाक्टरों की रिपोर्ट के आधार पर यह सहायता दी जाएगी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X