बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

स्कूल बस से आना-जाना होगा महंगा

Rampur Updated Sat, 13 Oct 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

रामपुर। स्कूल प्रबंधकों ने 16 तक बस स्कूल बस आपरेटर्स वेलफेयर एसोसिएशन की मांग नहीं मानी तो एसोसिएशन 17 से स्कूल बसों का संचालन बंद कर देगा। एसोसिएशन बसों का मासिक किराया बढ़ाने की मांग कर रहा है। स्कूल आपरेटर्स ने दो वर्ष से किराया नहीं बढ़ाया है, जबकि डीजल का मूल्य लगभग दो गुना हो चुका है।
विज्ञापन

यदि स्कूल प्रबंधकों ने स्कूल बस आपरेटर्स वेलफेयर एसोसिएशन की बसों का किराया बढ़ाने की मांग 16 तक पूरी नहीं की तो एसोसिएशन 17 अक्तूबर से स्कूल बसों का संचालन बंद कर देगा। छात्रों को स्कूल जाने में खासी मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा। एसोसिएशन केप्रवक्ता अजहर अली खां ने बताया कि जनपद में करीब तीस बस आपरेटर्स ने स्कूलों में 100 से अधिक बसें लगा रखी हैं। दो वर्ष में डीजल की कीमत लगभग दो गुनी हो गई है, लेकिन स्कूल प्रति बस दो वर्ष पुरानी दर पर 24-25 हजार रुपये किराया दे रहे हैं। किराया बढ़ाने केलिए कहने पर स्कूल प्रबंधक टालमटोल वाला रवैया अपनाए हुए हैं। इस मसले पर गुरुवार शाम एसोसिएशन की बैठक में फैसला लिया गया है कि यदि स्कूल प्रबंधकों ने 16 अक्टूबर तक उनकी मांग नहीं मानी तो वे 17 से स्कूल बसों का संचालन बंद कर देंगे। बैठक में एसोसिएशन के अध्यक्ष रईस खां, शाहिद मकसूद, ब्रजेश कुमार, बदरु जमा खां आदि उपस्थित थे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us