विज्ञापन
विज्ञापन

भाजपाइयों ने रसोई गैस की उतारी आरती

Rampur Updated Sun, 16 Sep 2012 12:00 PM IST
रामपुर। केंद्र सरकार द्वारा एक साल में सब्सिडी वाले रसोई गैस की छह सिलेंडरों की व्यवस्था के विरोध में भाजपा ने जोरदार प्रदर्शन किया। भाजपा कार्यकर्ताओं ने रेलवे स्टेशन के सामने नेशनल हाईवे पर गैस सिलेंडरों पर फूल माला डालकर आरती उतारी। भाजपा के जिला संयोजक सूर्य प्रकाश पाल ने ऐलान किया कि अगर सरकार डीजल के बढ़े हुए रेट वापस नहीं लिए और गैस सिलेंडरों को लेकर नई व्यवस्था समाप्त नहीं किए जाने की स्थिति में जोरदार आंदोलन शुरू किया जाएगा।
विज्ञापन
विज्ञापन
भाजपा कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार के फैसलों के विरोध में पार्टी कार्यालय पर बैठक की। इसके बाद कार्यकर्ता रेलवे स्टेशन के सामने हाईवे पर पहुंच गए। यहां भाजपाइयों ने सड़क पर रसोई गैस के सिलेंडर रखकर उस पर फूल माला चढ़ाई और उसकी आरती उतारी। इस अवसर पर पार्टी के जिला संयोजक सूर्य प्रकाश पाल ने कह कि केंद्र सरकार को समर्थन देने वाली सपा, बसपा और टीएमसी जैसी पार्टियां अपना समर्थन वापस लेेने की धमकी तो दे रही हैं, लेकिन समर्थन वापस लेने की घोषणा नहीं कर रही है। ये पार्टियां भी कांग्रेस के जनविरोधी फैसलों की हिस्सेदार हैं। लोकसभा चुनावों में जनता इन पार्टियों को सबक सिखाएगी। केंद्र में अगली सरकार भाजपा की बनेगी।
इस मौके पर बलदेव औलख, सुभाष भटनागर, राजीव मांगलिक, जुगेश अरोरा कुक्कू, जागेश्वर दयाल दीक्षित, प्रभात अग्रवाल, हंसराज पप्पू, महासिंह राजपूत, राजीव शर्मा, पूनम शर्मा, रानी गुप्ता, सीमा चौहान, गोपाल शर्मा, संजय पाठक, महासिंह राजपूत, दुर्गेश रस्तोगी, ध्यान सिंह यादव, इश्तियाक हुसैन, पातीराम लोधी, अनु गंगवार, भगवत सरन सक्सेना, सुभाष अग्रवाल, मुर्तजा अली और अतहर अब्बास नकवी सहित अन्य कई कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Recommended

देखिये लोकसभा चुनाव 2019 के LIVE परिणाम विस्तार से
Election 2019

देखिये लोकसभा चुनाव 2019 के LIVE परिणाम विस्तार से

जानिए अपने शहर के लाइव नतीजों की पल-पल की खबर
Election 2019

जानिए अपने शहर के लाइव नतीजों की पल-पल की खबर

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

एनडीए की सत्ता में वापसी, देखिए कौन जीता और कौन हारा

ऐतिहासिक जीत के साथ ही मोदी सरकार ने दुनिया का इतिहास भी बदल दिया है। देखिए कौन जीता और कौन हारा।

23 मई 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election