मान्यता देने पर बीएसए से जवाब तलब

Rampur Updated Wed, 05 Sep 2012 12:00 PM IST
रामपुर। शहरी क्षेत्र के पांच स्कूलों को आंख बंद कर मान्यता देने के मामले में बेसिक शिक्षा विभाग के अफसरों की भूमिका संदिग्ध मिली है। डीएम ने इसको गंभीरता से लेकर बीएसए से जवाब तलब किया है। पूछा है कि आखिर स्कूलों को मान्यता कैसे दे दी गई? उनका कोई वजूद नहीं था।
बेसिक शिक्षा विभाग में निजी स्कूलों को मान्यता देने में खूब खेल खेला गया। विभाग ने शहरी क्षेत्र के छह ऐेसे स्कूलों को मान्यता जारी कर दी, जो मौके पर मौजूद नहीं थे। इन स्कूलों को छात्रवृत्ति तक जारी कर दी गई। शिकायत के बाद समाज कल्याण विभाग और नगर शिक्षाधिकारी की ओर से की गई संयुक्त जांच में खुलासा हुआ था। जांच में पाया गया कि शहरी क्षेत्र के स्कूलों को आंख बंद कर मान्यता जारी कर दी गई। इसमें न कोई टीचर थे और न ही बच्चे। इतना ही नहीं फर्नीचर तक की व्यवस्था नहीं की गई थी। जांच रिपोर्ट डीएम के पास भेजी गई थी। जांच रिपोर्ट पहुंचने के बाद डीएम ने समाज कल्याण अधिकारी को रिपोर्ट दर्ज कराकर छह स्कूलों की मान्यता खत्म करने के निर्देश जारी कर दिए थे। इनमें -विकास पब्लिक स्कूल न्यू एकता बिहार,दुर्गा चिल्ड्रेन पब्लिक स्कूल रायपुर,प्रीति शिक्षा सदन कृष्णा बिहार, दुर्गा चिल्ड्रेन एकेडमी पनवड़िया,शालू मांटेसरी स्कूल विकास नगर आगापुर शमिल थे। अब डीएम अनिल ढींगरा ने मान्यता जारी करने में खेल पर बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों की भूमिका पर सवालिया निशान लगाए हैं। डीएम ने बीएसए को नोटिस जारी करते बीएसए से जवाब तलब किया है। पूछा है कि आखिर किस आधार पर इन स्कूलों को मान्यता दी गई। साफ किया है मान्यता जारी करने में अफसरों की भूमिका संदिग्ध है क्यों न मामले में कार्रवाई की जाए। डीएम के नोटिस से बेसिक शिक्षा विभाग में खलबली मच गई है।

Spotlight

Related Videos

VIDEO: कड़ी मशक्कत के बाद पकड़ में आया अजगर

विकासनगर के कुल्हाल सब स्टेशन में अजगर मिलने से हड़कंप मच गया। करीब एक घंटे चले रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद वन कर्मीअजगर को पकड़ पाने में सफल हो पाए। इसके बाद वनकर्मियों ने अजगर को जंगल में छोड़ दिया।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper