यादव सभा ने मनाया श्रीकृष्ण जन्मोत्सव

Rampur Updated Mon, 20 Aug 2012 12:00 PM IST
रामपुर। जिला यादव सभा के श्रीकृष्ण जन्मोत्सव कार्यक्रम में गौरक्षा न कर पाने वाले यदुवंशियों को नाम के आगे से यादव हटाने को कहा गया। पूर्व मंत्री डीपी यादव समेत अन्य वक्ताओं ने योगी पुरुषोत्तम श्रीकृष्ण को जनतंत्र की शक्ति का अहसास कराने वाला विश्व का पहला व्यक्ति बताया और कहा श्रीकृष्ण एक संदेश हैं।
जिला यादव सभा ने गांधी समाधि के निकट स्थित एक समारोह स्थल पर रविवार को श्रीकृष्ण जन्मोत्सव कार्यक्रम आयोजित किया। मुख्य वक्ता गीता साहित्य विद्वान उत्तर प्रदेश रत्न रमेशचंद्र यादव ने कहा श्रीकृष्ण का जन्म 5197 वर्ष पूर्व हुआ था। बीस वर्ष की आयु में उन्होंने कंस का वध किया था। उन्होंने कहा कि उनके काल में वर्षा कराने की वैज्ञानिक पद्धति के जानकार एक राजा को अपनी शक्ति पर अहंकार हो गया। श्रीकृष्ण ने जनता के सहयोग से उस राजा को हराया। सही मायने में श्रीकृष्ण ही इस धरती पर जनतंत्र की शक्ति का अहसास कराने वाले प्रथम पुरुष थे।
पूर्व एमएलसी भारत सिंह यादव ने कहा कि शक्ति और बुद्घि के लिए गौ दूध जरूरी है। गौ पालक रूप में विख्यात भगवान श्रीकृष्ण यह महत्ता समझते थे। उन्होंने कहा कि शक्ति और बुद्घि से ही किसी समाज का विकास संभव है। यादव समाज और देश के विकास के लिए आवश्यक है कि गाय का दूध पिएं। उन्होंने कहा कि हर यदुवंशी को गौ रक्षा के लिए आगे आना चाहिए। जो यदुवंशी गौ रक्षा न कर सके उसे नाम के आगे से यादव शब्द हटा देना चाहिए। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व मंत्री डीपी यादव ने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण एक संदेश हैं। समाज और देश के लिए शिक्षा अहम है। यादव समाज ही ऐसा समाज है जो जातिवाद से परे रहकर देश और अन्य समाजों के विकास के लिए सोचता है और कर्म करता है। बैठक की अध्यक्षता जिला यादव सभा के संस्थापक जिलाध्यक्ष रामवीर सिंह ने और संचालन अमरपाल यादव ने कहा। कार्यक्रम में बिलारी के पूर्व ब्लॉक प्रमुख रामकुंवर यादव, रिटायर्ड बीएसए विमला यादव समेत जनपद के ग्रामीण व नगरीय क्षेत्रों से आए यादव समाज के लोग उपस्थित थे।

Spotlight

Related Videos

18000 फीट की ऊंचाई पर सैनिकों ने किया योग

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर आईटीबीपी के जवानों ने 18000 फीट की ऊंचाई पर लद्दाख की कड़कड़ाती ठंड में योग किया। जवानों ने लोगों को यह संदेश देने की कोशिश की चाहे परिस्थितियां कैसी भी हो योग किया जा सकता है...

21 जून 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen