किडनी निकालने के आरोप में फंसे डाक्टर बंधु

Rampur Updated Wed, 15 Aug 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

रामपुर। शहर विधानसभा सीट से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ चुके डाक्टर तनवीर अहमद और उनके भाई डाक्टर महमूद पर इलाज के दौरान युवक की किडनी निकालने की रिपोर्ट दर्ज की गई है। इसमें दोनों भाइयों समेत तीन के खिलाफ शहर कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज करने के बाद तफ्तीश शुरू कर दी है। वहीं दूसरी ओर डा. तनवीर ने आरोप को निराधार बताया है।
विज्ञापन

शहर कोतवाली क्षेत्र के मुहल्ला नालापार निवासी जाफर ने पुलिस को दी गई तहरीर में कहा है कि लगभग दस साल पहले उसे पथरी की शिकायत थी। पथरी की शिकायत होने पर उसने तोपखाना रोड स्थित डा. तनवीर के अस्पताल में अपना इलाज कराया। इलाज के दौरान उसका आपरेशन हुआ था। आपरेशन के बाद दर्द ठीक हो गया। सप्ताह भर पहले एक बार फिर उसके दर्द उठा,जिस पर उसने निजी व सरकारी अस्पताल में अल्ट्रासाउंड कराया। इस रिपोर्ट में उसकी एक किडनी के न होने की बात कही गई। किडनी न होने की जानकारी पर वह हैरत में है। पुलिस ने तहरीर के आधार पर सेवा अस्पताल के डा. तनवीर अहमद और उसके भाई डा. महमूद अली व एक मुरादाबाद के डाक्टर के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। शहर कोतवाल दिनेश कुमार शर्मा ने बताया कि पुलिस ने मामले की रिपोर्ट दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी है।
राजनीति से प्रेरित है आरोप: डा. तनवीर
रामपुर। डा. तनवीर का कहना है कि जाफर का आरोप पूरी तरह से बेबुनियाद है। वो दस साल पुरानी बात बता रहा है। यह मामला पूरी तरह से राजनीति से प्रेरित है, उनकी छवि धूमिल करने की कोशिश की जा रही है। इस तरह के अनर्गल आरोप लगाने वाले के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।


मुरादाबाद के डाक्टर पर भी उठी उंगली
रामपुर। किडनी निकाले जाने के मामले में मुरादाबाद के एक डाक्टर पर भी आरोप लगाया गया है। हालांकि मामला दस साल पुराना है। अब आकर इसका खुलासा हुआ है। इसमें जहां एक ओर डाक्टर बंधुओं पर किडनी निकालने का आरोप है, वहीं दूसरी ओर मुरादाबाद के डाक्टर पर भी उंगली उठी है। पीड़ित पक्ष ने मुरादाबाद के डाक्टर का नाम नहीं खोला है, लेकिन उसका कहना है वह सामने आने पर पहचान सकता है।


मुरादाबाद में भी हो चुका किडनी चोरी का मामला
रामपुर। चार साल पहले मुरादाबाद में किडनी चोरी का मामला दर्ज हो चुका है। इसके बाद मुरादाबाद पुलिस ने दिल्ली, गुड़गांव समेत कई शहरों में गिरफ्तारियां की थीं। देशभर में किडनी को लेकर बवंडर मचा था। इसका मुख्य आरोपी डाक्टर अमित को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। इसके बाद किडनी निकाले जाने के तमाम मामले सामने आ चुके हैं।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us