विज्ञापन
विज्ञापन

ट्रांसमिशन लॉस रोकने में सक्षम नहीं महकमा

Rampur Updated Thu, 02 Aug 2012 12:00 PM IST
रामपुर। देश पर बिजली संकट गहरा गया, लेकिन महकमा कोई सबक लेना नहीं चाहता। इसका एक उदाहरण बिजली चोरी को चलने वाला अभियान है। यह अभियान मात्र खानापूर्ति ही नजर आता है। कुछ दिन अभियान जोर-शोर पर नजर आया, लेकिन कब ठंडा पड़ गया पता ही नहीं चला। ग्रामीण बिजली घर की अपेक्षा शहर बिजली घर में यह हाल अधिक नजर आता है।
विज्ञापन
विज्ञापन
सोमवार को उत्तरी ग्रिड फेल हुआ था। इससे आठ राज्यों की बिजली गुल हो गई थी। धीरे-धीरे स्थिति नियंत्रण में हुई तो दूसरे दिन (मंगलवार) तीन ग्रिड (उत्तरी ग्रिड, पूर्वी ग्रिड, उत्तरी-पूर्वी ग्रिड) फेल हो गए। यह संकट 22 राज्यों में गहरा गया था। इसकी वजह अपेक्षा से अधिक बिजली खपत माना जा रहा था। जिसका सबसे अधिक कारण ट्रांसमिशन लास भी था। टेक्नीकल रूप में तो इस लॉस के कई कारण है। कॉपर के स्थान पर एल्युमीनियम के तार के प्रयोग से लेकर क्षतिग्रस्त और जुगाड़ से ठीक की जाने वाली कमजोर लाइनों के कारण भी यह लास अधिक होता है। लेकिन बगैर रजिस्टर्ड इस्तेमाल की जा रही बिजली इस समस्या का सबसे कारण माना जाता है। विभागीय जानकारों की माने तो इस लास को बचाने भर से ही बिजली की डिमांड पूरी की जा सकती है। लेकिन ऐसे कोई प्रयास नजर में नहीं आती। ग्रामीण और शहरी इलाकों में छापामारी अभियान चला था। लेकिन अब यह ठंडा पड़ गया है। ऐसे में बिजली संकट के बाद भी अधिकारी कितने सजग है, समझा जा सकता है।

Recommended

देखिये लोकसभा चुनाव 2019 के LIVE परिणाम विस्तार से
Election 2019

देखिये लोकसभा चुनाव 2019 के LIVE परिणाम विस्तार से

जानिए अपने शहर के लाइव नतीजों की पल-पल की खबर
Election 2019

जानिए अपने शहर के लाइव नतीजों की पल-पल की खबर

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

जीत के बाद पीएम मोदी का पहला भाषण, कहा बदनीयत से नहीं करूंगा कोई काम

जीत के बाद पीएम मोदी का पहला भाषण। हजारों कार्यकर्ताओं से भरा प्रांगण मोदी-मोदी के नारों से गूंज उठा।

24 मई 2019

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election