बहुत ही गंभीर मामला है, कार्रवाई होगी : आजम खां

Rampur Updated Mon, 16 Jul 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

रामपुर। नगर विकास मंत्री आजम खां ने कहा है कि शिशु सदन की बच्ची की मौत बहुत ही गंभीर घटना है। बच्ची के इलाज के बारे में पूरा ब्यौरा तलब किया गया है। बच्ची को जब इलाज के लिए जिला अस्पताल में ले जाया गया तो डाक्टर ने परची पर ऐसी दवा लिख दी गई है, जिसे कोई डाक्टर नहीं पढ़ पा रहा है। अगर बच्ची की मौत के मामले में जिला अस्पताल की लापरवाही सामने आती है तो कार्रवाई होगी।
विज्ञापन

शिशु निकेतन का निरीक्षण करने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए आजम खां ने कहा कि मुझे लखनऊ में बच्ची की मौत के बारे में जानकारी मिली थी। मैंने महिला कल्याण एवं संस्कृति मंत्री अरुण कुमारी कोरी को पत्र लिखकर इस मामले में कार्रवाई की सिफारिश की थी। उन्होंने शिशु सदन के सहायक अधीक्षक को निलंबित करने का आदेश जारी कर दिया था, लेकिन कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं होने के कारण आदेश पर अमल नहीं हुआ था। जिलाधिकारी को आदेश दिया गया है कि शिशु सदन का चार्ज किसी अधिकारी को सौंपे।
उन्होंने कहा कि शिशु सदन में पांच ऐसे बच्चे हैं जो मानसिक रूप से कमजोर हैं। इन बच्चों की ना तो यहां बेहतर परवरिश हो सकती है और ना ही उनके सेहत का ध्यान रखा जा सकता है। इस मामले में अब तक शासन को जानकारी क्यों नहीं दी गई? इसकी भी जांच होगी। आजम खां ने बताया कि जिलाधिकारी को आदेश दिया गया है कि वो शिशु सदन के बच्चों को गोद लेने संबंधी विज्ञापन जारी कराए। ताकि निसंतान दंपति बच्चों को गोद ले सकें। उन्होंने कहा कि समाज के लोगों को भी ऐसे बच्चों की मदद के लिए आगे आना चाहिए। आखिर हमारा कोई सामाजिक दायित्व भी तो है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us