बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

पालिका के नोटिस से व्यापारियों में उबाल

Rampur Updated Sun, 15 Jul 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
रामपुर। सर्राफा बाजार के दुकानदारों को नगर पालिका की ओर से भेजे गए नोटिस को लेकर व्यापारियों में जबरदस्त उबाल है। व्यापारियों ने पालिका की इस नोटिस को गलत बताते हुए किसी भी कार्रवाई का जोरदार विरोध करने का ऐलान किया है। व्यापारियों ने साफ-साफ कहा है कि वे ज्यादती बर्दाश्त नहीं करेंगे। चाहे इसके लिए उनको लाठी-डंडा या गोली क्यों ना खानी पड़े।
विज्ञापन

गौरतलब है कि नगरपालिका की ओर से सर्राफा बाजार के दुकानदारों को नोटिस भेजा गया है। नोटिस में उनसे कहा गया है कि पूर्व जो चिन्हीकरण किया था, उसके मुताबिक वे अतिक्रमण हटा लें, अन्यथा पालिका कार्रवाई करने को मजबूर होगी। पालिका ने सोमवार तक अतिक्रमण ना हटाने पर कार्रवाई की चेतावनी दी है। सर्राफा बाजार के कई व्यापारियों ने पालिका का नोटिस नहीं लिया तो कर्मचारी उनकी दुकान पर नोटिस चस्पा करने लगे। व्यापारियों ने इसका भी विरोध किया। इसके बाद पालिका की टीम वापस आ गई थी।

इस मुद्दे को लेकर शनिवार को उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधिमंडल की बैठक गली लंगर खाना स्थित बन्नू लाल के धर्मशाला में आयोजित हुई। बैठक में व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष शैलेंद्र शर्मा ने कहा कि किसी भी कीमत पर व्यापारियों के साथ ज्यादती नहीं होने दी जाएगी। दुकानदारों को दुकान तोड़ने का नोटिस देने की कार्रवाई गलत है और यह अत्याचार है। इस मौके पर उत्तर प्रदेश युवा उद्योग व्यापार प्रतिनिधिमंडल के प्रदेश उपाध्यक्ष संदीप अग्रवाल सोनी ने कहा कि पहले तो पालिका की ओर से जो नोटिस जारी किया गया है, वह 26 फरवरी को जारी किया गया है। फरवरी का माह का नोटिस जुलाई में दिया जा रहा है। दुकानदारों को बिना वजह बैक डेट का नोटिस जारी कर ब्लैकमेल किया जा रहा है। सर्राफा बाजार की सड़कें चौड़ी हैं, यहां किसी तरह का अतिक्रमण नहीं है। नगर पालिका सर्राफा व्यापारियों की रोजी-रोटी छीनना चाह रही है।
सोनी ने कहा कि व्यापारी अब अपनी लड़ाई सड़क पर लड़ेंगे। बृहस्पतिवार को दोपहर बाद तीन बजे सर्राफा बाजार के व्यापारी अपनी दुकानें बंद कर सड़क पर बैठक कर आर-पार की लड़ाई का ऐलान करेंगे। व्यापारी किसी तरह का अत्याचार नहीं सहेंगे। इसके लिए वो लाठी-डंडा और गोली खाने को भी तैयार हैं।
इस मौके पर सर्राफा कमेटी के आशीष अग्रवाल, शाहिद शमसी, हारिस शमसी, मुकेश शर्मा, कपिल शर्मा, प्रेम किशोर, गुरुचरण सिंह, चंद्र प्रकाश, विशाल रस्तोगी, प्रेम प्रकाश, कमल किशोर अरोरा, रवि प्रकाश, जितेंद्र कुमार, विनीत रस्तोगी, सुनील रस्तोगी, शरद, अरविंद, पप्पू सिंह सहित अन्य कई व्यापारी मौजूद रहे। बैठक की अध्यक्षता हरिओम अग्रवाल ने और संचालन अशेष अग्रवाल ने किया।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us