रामपुर डिस्टलरी को क्लीन चिट

Rampur Updated Thu, 12 Jul 2012 12:00 PM IST
रामपुर। रामपुर डिस्टलरी से हो रहे प्रदूषण से जनता को नुकसान नहीं है। सेहत विभाग ने क्लीन चिट दे दी है। उन्होंने कुछ गांवों में डाक्टरों की गठित टीम से जांच करवाई थी। जिसके बाद किसी प्रकार के सेहत नुकसान से इन्कार कर दिया गया है। सीएमओ डा. एमएल पुष्कर ने यह रिपोर्ट उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड मुरादाबाद को भी भेज दी है।
गौरतलब हो कि चमरौवा क्षेत्र के विधायक यूसुफ अली ने विधानसभा के प्रथम सत्र 2012 में खेतान डिस्टलरी रामपुर से निष्कासित अवशेष से होने वाले प्रदूषण को लेकर सवाल किया था। उनके इस सवाल पर प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी रामपुर को जांच के लिए पत्र लिखा था। इस मामले को लेकर जांच टीम का गठन किया गया था। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. एमएल पुष्कर ने बताया कि पांच जुलाई को जांच टीम के सदस्यों ने गांव भमरौवा, बढ़पुरा, जुठिया, दुर्गनगला में सर्वे किया था। सर्वे में जांच के दौरान रामपुर डिस्टलरी से निष्कासित होने वाले पदार्थ से या प्रदूषित हवा से कोई प्रभावित नहीं मिला। उन गांवों में किसी प्रकार की कोई बीमारी नहीं पाई गई। उन्होंने बताया कि यह रिपोर्ट प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को सौंप दी गई है। उन्होंने बताया कि टीम में एसीएमओ डा. वीके त्यागी, जिला मलेरिया अधिकारी हरिओम वर्मा व चमरौवा के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डा. गणेश यादव शामिल थे।

Spotlight

Related Videos

इस शख्स ने अपनी कलम की धार से समाज को जगाया, पागलखाने में भी गुजारे दिन

उर्दू के मशहूर कहानीकार सआदत हसन मंटो ने अपनी कमल की धार से समाज को जगाने का काम किया और खुद को जिंदा रखने के लिए अपने पीछे वो कई कहानियां छोड़ गए हैं। वहीं मुंबई के फिल्म जगत को भी मंटो की  फिर याद आई है और उनके जीवन पर एक फीचर फिल्म बनाई जा रही है।

17 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper