विज्ञापन

पूरे शहर में एक भी ‘अंडर ग्राउंड टैंक’ नहीं

Rampur Updated Thu, 05 Jul 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
रामपुर। डेंजर जोन में है शहर...? शहरियों के लिए वाकई में यह डरावनी खबर हो सकती है, लेकिन अफसर नहीं चेते तो यह डर सही साबित हो सकता है। लगभग साढ़े तीन लाख की आबादी वाले इस शहर में आग से निपटने के लिए एक भी अंडर ग्राउंड टैंक की व्यवस्था नहीं है। आग लगी तो उसे बुझाने के लिए पानी ढूंढना मुश्किल हो सकता है।
विज्ञापन
माना जाता है, आग तब हावी होती है जब उसे बुझाने के साधन कारगर साबित नहीं होते हैं। लेकिन उसके बावजूद प्रशासन और संबंधित विभाग अनदेखी कर रहे हैं। कई लापरवाही हुई हैं, जिसका खामियाजा जनता को भुगतना पड़ सकता है। नगर पालिका ने आग बुझाने के प्रबंधों पर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दिया है। अग्निशमन वाहनों को इमरजेंसी में पानी उपलब्ध हो सके, ऐसे कोई इंतजाम शहर में नहीं है। यही नहीं हाइड्रेंट की भी जरूरत के सापेक्ष पचास फीसदी भी व्यवस्था नहीं है। ऐसे में शहर में आग बुझाने निकले अग्निशमन वाहनों को पानी मिल पाना मुश्किल हो जाता है। यह मुश्किलें तब और बढ़ जाती है जब अंडर ग्राउंड टैंकों की संख्या शून्य पाई जाती है। ऐसे में हल्की घटनाएं भी बड़ा नुकसान करने में सफल हो जाती है। यह समस्या शहर को डेंजर जोन की श्रेणी में बनाए हुए है।

आग बुझाने को पानी की व्यवस्था
रामपुर। अग्निशमन विभाग के लीडिंग फायरमैन अशोक कुमार ने बताया कि पालिका ने जो पुराने फायर हाइड्रेंट बनाए थे। वह रोड में दब गए हैं। नए फायर हाइड्रेंट के लिए काफी प्रयास किए गए। पालिका के हर ओवर हेड टैंक पर यह व्यवस्था कर ली गई। पूरे शहर में कम से कम पच्चीस फायर हाइड्रेंट होने चाहिए। वहीं अंडर ग्राउंड टैंक न होने से समस्या रहती है।

बाक्स-
जिले की सुरक्षा के लिए मात्र तीन वाहन
रामपुर। रामपुर जिले की सुरक्षा मात्र तीन अग्निशमन वाहन पर टिकी है। इसीलिए चिंगारी को आग में बदलने का समय मिल जाता है और पीड़ित को अधिक नुकसान उठाना पड़ता है। अग्निशमन अधिकारी के मुताबिक हर तहसील में अग्निशमन वाहन की व्यवस्था होनी चाहिए। विभाग के पास तीन बड़े वाहन है, जिनमें साढ़े चार हजार लीटर पानी स्टोर हो जाता है। वाहन कम होने से इन्हें सभी तहसीलों में तैनात नहीं किया गया है। वर्तमान में यह गाड़ियां बिलासपुर के अलावा राधा रोड व पुलिस लाइन में तैनात हैं। वहीं छह छोटे वाहन हैं।

विभाग में कर्मचारियों की कमी--
पद स्वीकृति रिक्त
अग्निशमन अधिकारी(प्रथम) 01 00
अग्निशमन अधिकारी(द्वितीय) 02 00
लीडिंग फायरमैन 04 04
फायरमैन 25 29
ड्राइवर 04 04

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

गुरुवार को इस वक्त ना निकलें घर से वरना नहीं बनेगा कोई काम

गुरुवार को लग रहा है कौन सा नक्षत्र और बन रहा है कौन सा योग? दिन के किस पहर करें शुभ काम? जानिए यहां और देखिए पंचांग गुरुवार 20 सितंबर 2018।

19 सितंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree