विज्ञापन

कुत्तों ने बालक को नोच-नोच कर मार डाला

Rampur Updated Mon, 02 Jul 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
सैदनगर। एक मजदूर के बेटे को आवारा कुत्तों ने नोच-नोच मार डाला। वह अपने पिता के साथ ईंट भट्ठे पर रहता था। वह जलेबी लेने के लिए एक दुकान पर जा रहा था। रास्ते में ही उसे कुत्तों ने घेर लिया और बुरी तरह झिंझोड़ डाला। अस्पताल ले जाते वक्त बालक ने दम तोड़ दिया।
विज्ञापन
क्षेत्र के बगरौवा का मझरा गदईखेड़ा निवासी राजपाल नगला गनेश में शहादत हुसैन के ईंट भट्ठे पर मजदूरी करता है। उसकी पत्नी चार साल पहले उसे छोड़कर जा चुकी है। उसका बेटा राजू (6 ) उसके साथ रहता था। राजू ने शनिवार को दोपहर का खाना अपने पिता के साथ खाया। खाना खाने के बाद राजपाल ने उसे जलेबी के लिए दस रुपए दिए। वह पैसे लेकर नगला गनेश के चौराहे पर जलेबी लेने जा रहा था। रास्ते में उस पर कई जंगली कुत्तों ने हमला बोल दिया। कुत्तों ने बालक को नोच-नोच कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। इस दौरान रास्ते से गुजर रहे एक युवक ने ईंटें मारकर राजू को कुत्तों के चंगुल से छुड़ाया, लेकिन तब तक राजू बुरी तरह जख्मी हो चुका था। कुत्तों ने उसके कान, नाक और सिर को बुरी तरह चबा लिया था।
युवक ने भट्ठे पर जाकर राजपाल को जानकारी दी। घायल होने की खबर सुनकर राजपाल और अन्य मजदूर मौके पर पहुंचे। राजू खून से लहूलुहान बेहोशी की हालत में पड़ा था। आनन-फानन उसे जिला अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। राजपाल का राजू इकलौता बेटा था।

पहले भी कुत्ते बन चुके हैं मौत का सबब
सैदनगर। बगरौवा, भोट बक्काल, नगला गनेश चौराहा, खेमपुर, काशीपुर में आवारा कुत्तों के आतंक से लोग परेशान हैं। इससे पहले भी अवारा कुत्तों ने भोट की दो किशोरियों पर हमला कर जख्मी कर दिया। बाद में दोनों की मौत हो गई थी। ग्रामीणों का कहना है कि सड़कों पर चलना दुश्वार हो गया है। आने-जाने वालों पर बुरी तरह झपट पड़ते हैं।


राजपाल के घर का बुझ गया चिराग
सैदनगर। भट्ठे पर काम कर अपना और बेटे का पेट पाल रहे राजपाल के घर का चिराग ही बुझ गया। उसकी शादी करीब आठ साल पहले हुई थी। शादी के दो साल बाद राजू पैदा हुआ। राजू दो साल का ही था कि राजपाल की पत्नी उसे और राजू को छोड़कर घर से चली गई। पत्नी के चले जाने के बाद राजपाल को मां और बाप का प्यार देकर पाल रहा था। राजू की मौत के बाद अब उसके घर का चिराग ही बुझ गया।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

11 दिसंबर से 8 जनवरी तक संसद का शीतकालीन सत्र, जानिए किन मुद्दों पर होगी चर्चा

संसद का शीतकालीन सत्र 11 दिसंबर से शुरू होकर आठ जनवरी तक चलेगा। इसकी जानकरी देते हुए संसदीय मामलों के राज्य मंत्री विजय गोयल ने बताया कि इस दौरान 20 कार्यदिवस मिलेंगे। इन बीस दिनों में सरकार कई महत्वपूर्ण बिलों पर चर्चा करेगी।

14 नवंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree