विज्ञापन

सरकार के फैसला बदलते ही व्यापारी नरम

Rampur Updated Tue, 19 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
रामपुर। सरकार के बिजली बचाने को मुकर्रर वक्त बाजार बंद करने की बंदिश के ऐलान पर व्यापारियों का पारा चढ़ गया था। दिनभर विरोध की रणनीति बनाई गई लेकिन शाम ढले सरकार के फैसला बदलने पर व्यापारियों का रुख बदल गया। उन्होंने जहां खुशी जाहिर की, वहीं व्यापारियों से भी बिजली का सही इस्तेमाल करने की नसीहत की।
विज्ञापन

सरकार ने रविवार को बिजली की फिजूलखर्ची रोकने को शाम सात बजे बाजार बंद कराने का ऐलान किया था। इस ऐलान के बाद से व्यापारियों का गुस्सा बढ़ गया था। उनका कहना था कि दिनभर गरमी के चलते बाजार में सन्नाटा रहता है, शाम को सूरज की तपिश कम होने पर ग्राहक घरों से निकलते हैं तो सरकार ने बंदिश लगा दी। इससे कारोबार पर बुरा असर पड़ेगा। इसके विरोध में व्यापार संगठनों ने आंदोलन चेतावनी के साथ रणनीति बनानी शुरू कर दी थी, लेकिन शाम को सरकार ने फैसला बदल दिया। इसके साथ ही अकबर मार्केंट में उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल की कोर मीटिंग में जिलाध्यक्ष शैलेंद्र शर्मा ने कहा कि प्रदेश सरकार ने दुकानों पर शाम सात बजे दुकान बंद करने के फैसले को बदलकर दुकानों को इस सीमा से बाहर कर दिया है। उन्होंने कहा कि गरमी के मौसम में दुकानदारों का व्यापार शाम को ही होता है। उन्होंने सरकार के इस फैसले का राहत देने वाला बताया। उन्होंने व्यापारियों से बिजली बचत का आह्वान किया। कहा कि आवश्यकता अनुसार बिजली का उपभोग करें। बिजली का अनावश्यक इस्तेमाल आर्थिक दबाव बढ़ाता है। विद्युत उत्पादन कम होने की वजह से बिजली की कमी भी बढ़ाता है। दुकानों को शाम सात बजे बंद करने के फैसले से बाहर होने पर व्यापारियों ने खुशी जाहिर की। संचालन वाजिद खां ने किया। इसमें हरि अरोरा, अनिल अरोरा, प्रदीप खंडेलवाल, मोहम्मद, शाकेब, वाजिद आदि थे।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us