विज्ञापन

प्रधान और विरोधी गुट में खूनी संघर्ष

Rampur Updated Mon, 18 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
सैफनी। किशनपुर गांव में मोबाइल की अदला-बदली को लेकर बच्चों के बीच झगडे़ ने तूल पकड़ लिया। दो पक्षों में जमकर लाठी-डंडे, धारदार हथियार और नाजायज असलहों से वार किया गया। इसमें ग्राम प्रधान समेत चार लोग घायल हो गए। उनको जिला अस्पताल में भरती कराया गया है। उनमें दो लोग गोली लगने से जख्मी हुए हैं। पुलिस ने 13 के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज की है। घटना के वक्त जबरदस्त फायरिंग से गांव में दहशत एवं अफरातफरी है। एसपी डा. प्रीतिंदर सिंह ने मौके पर पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया।
विज्ञापन

ग्राम किशनपुर निवासी प्रधान राशम अली एवं नन्हें के गांव में कुछ ही फासले से मकान हैं। शनिवार शाम मोबाइल बदलने को लेकर प्रधान के भतीजे फुरकान और नन्हें के पुत्र मुराद अली में विवाद हो गया। हाथापाई के बाद विवाद में बडे़ भी कूद पडे़। विवाद ने खासा तूल पकड़ लिया। आरोप है कि नन्हें पक्ष के लोगों ने लाठी-डंडे, धारदार हथियार और नाजायज असलहों से लैस होकर प्रधान राशम अली के मकान पर हमला बोल दिया। इसमें प्रधान राशम (50), परिवार के गुलाम हुसैन (56), मुशाहिद (22) और मुजफ्फर (20) गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों इलाज को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। परिजनों ने मुशाहिद व मुजफ्फर गोली लगकर जख्मी होने बताए हैं। घटना के वक्त विवादित पक्षों में जमकर फायरिंग हुई। इससे गांव में काफी देर तक दहशत व अफरातफरी मची रही। घटना की सूचना पाकर पहले सैफनी और शाहबाद पुलिस मौके पर पहुंची। इसके कुछ समय बाद रात में ही एसपी डा. प्रीतिंदर सिंह ने पुलिस बल के साथ मौके जायजा लिया। पुलिस ने प्रधान के भाई गुलाम हुसैन की ओर से तेरह लोगों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। रविवार को एहतियातन गांव में पुलिस तैनात रही।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us