विज्ञापन

पिता-पुत्री समेत चार की मौत के बाद मचा कोहराम

Rampur Updated Sun, 17 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
रामपुर। बिजनौर के नगीना में रामपुर के पिता पुत्री समेत चार लोगों की मौत की खबर मिलने केबाद उनके घरों में कोहराम मच गया है। देर रात शव पहुंचने के बाद परिवार के लोगों का बुरा हाल हो गया था।
विज्ञापन

सिविल लाइंस थाना क्षेत्र की ज्वाला नगर की रफत कालोनी निवासी रमेश चंद्र सक्सेना का बड़ा बेटा दीपक सक्सेना उत्तराखंड के ऊधमसिंहनगर की एक फैक्टरी में काम करता था। शुक्रवार की शाम दीपक अपने ससुरालियों के संग स्कार्पियो कार से हरिद्वार जाने के लिए निकला था। बीती रात बिजनौर के नगीना थाना क्षेत्र में स्कार्पियो को एक टैंकर ने टक्कर मार दी,जिसके बाद कार में सवार दीपक और उसकी तीन साल की बेटी मानसी की मौके पर ही मौत हो गई। इसके साथ ही हादसे में ऊधमसिंहनगर निवासी उसके साले मोंटी व सलहज ममता पत्नी सुबोध ने भी दम तोड़ दिया। इस हादसे में दीपक की पत्नी रेखा, सास आशा, संध्या,सुबोध और उसके दो बेटे भी जख्मी हो गए। घायलों का इलाज चल रहा है। रात करीब ढाई बजे हादसे की खबर घटना में घायल रेखा ने फोन के जरिए ज्वाला नगर स्थित अपने घर रमेश चंद्र सक्सेना को दी। सूचना मिलते ही रमेश के घर में कोहराम मच गया। देर रात में ही परिवार के कुछ सदस्य मौके पर रवाना हो गए। शनिवार की देर रात दीपक और उसकी बेटी के शवों को यहां लाया गया,जिसके बाद कोहराम मच गया। हादसे की जानकारी मिलते ही कालोनी के लोगों के आने जाने का सिलसिला शुरू हो गया। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था। मां और अन्य परिजन शवों को देखकर फूट-फूट कर रो पड़े। देर रात तक यहां सांत्वना देने वालों का सिलसिला जारी रहा।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us