'My Result Plus

सौलत लाइबभनेरी की छत गिरी

Rampur Updated Fri, 15 Jun 2012 12:00 PM IST
रामपुर। सौलत पब्लिक लाइबभनेरी की छत का कुछ हिस्सा गिर गया। छत के साथ दीवार भी गिर गई। मलवा गिरने से किताबों की अलमारियां भी क्षतिग्रस्त हो गईं। रात का समय होने से बड़ा हादसा होने से टल गया।
सौलत लाइबभनेरी की इमारत करीब डेढ़ सौ साल पुरानी है। छत का प्लास्टर काफी समय से टूटकर गिर रहा है। दीवारों में भी दरारें पड़ रही हैं। लाइबभनेरी में काफी तादाद में कीमती किताबेें हैं। लाइबेभनरी में रोजाना तमाम लोग आते हैं। छत पुरानी होने की वजह से बुधवार रात लाइबभनेरी की छत का हिस्सा गिर गया। साथ ही दीवार का भी कुछ हिस्सा गिर गया। छत और दीवार का मलवा अलमारियों पर गिर गया, जिससे अलमारियां क्षतिग्रस्त हो गई। तमाम किताबें भी मलवे में दब गई। दिन निकलने पर जब लाइबभनेरी खोली गई तो हादसे का पता लगा। चूंकि छत रात में गिरी, इसलिए बड़ा हादसा होने से टल गया। लाइबभनेरी के अध्यक्ष सीन शीन आलम ने बताया कि इमारत करीब डेढ़ सौ साल पुरानी है। यह इमारत नवाबजादा सफदर अली खां की हवेली थी जो रियासत के दौर में हुजूर तहसील बना दी गई थी। उन्होंने बताया कि इमारत दोबारा बनाने की जरूरत है। अगर इमारत नहीं बनाई गई तो कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है।

Spotlight

Related Videos

तो इसलिए भारतीय वायुसेना कर रही है अबतक का सबसे बड़ा युद्धाभ्यास

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को असम के डिब्रूगढ़ में एयर फोर्स के युद्धाभ्यास का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने मीडिया से भी बातचीत की। खुद सुनिए क्या बोलीं रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण।

19 अप्रैल 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen