विज्ञापन

सौलत लाइबभनेरी की छत गिरी

Rampur Updated Fri, 15 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
रामपुर। सौलत पब्लिक लाइबभनेरी की छत का कुछ हिस्सा गिर गया। छत के साथ दीवार भी गिर गई। मलवा गिरने से किताबों की अलमारियां भी क्षतिग्रस्त हो गईं। रात का समय होने से बड़ा हादसा होने से टल गया।
विज्ञापन

सौलत लाइबभनेरी की इमारत करीब डेढ़ सौ साल पुरानी है। छत का प्लास्टर काफी समय से टूटकर गिर रहा है। दीवारों में भी दरारें पड़ रही हैं। लाइबभनेरी में काफी तादाद में कीमती किताबेें हैं। लाइबेभनरी में रोजाना तमाम लोग आते हैं। छत पुरानी होने की वजह से बुधवार रात लाइबभनेरी की छत का हिस्सा गिर गया। साथ ही दीवार का भी कुछ हिस्सा गिर गया। छत और दीवार का मलवा अलमारियों पर गिर गया, जिससे अलमारियां क्षतिग्रस्त हो गई। तमाम किताबें भी मलवे में दब गई। दिन निकलने पर जब लाइबभनेरी खोली गई तो हादसे का पता लगा। चूंकि छत रात में गिरी, इसलिए बड़ा हादसा होने से टल गया। लाइबभनेरी के अध्यक्ष सीन शीन आलम ने बताया कि इमारत करीब डेढ़ सौ साल पुरानी है। यह इमारत नवाबजादा सफदर अली खां की हवेली थी जो रियासत के दौर में हुजूर तहसील बना दी गई थी। उन्होंने बताया कि इमारत दोबारा बनाने की जरूरत है। अगर इमारत नहीं बनाई गई तो कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us