हाईस्कूल की परीक्षा में पास होने वालों की बढ़ी संख्या

Rampur Updated Sat, 09 Jun 2012 12:00 PM IST
रामपुर। इसे सतत अंक प्रणाली का ही कमाल कहा जाएगा कि इस बार के रिजल्ट ने पिछले कई सालों का रिकार्ड तोड़ दिया। पिछले साल के मुकाबले 20.84 फीसदी का उछाल आया है। प्रैक्टिकल विषयों में तो खूब नंबर लुटाए गए हैं। यही वजह है कि इस बार रिजल्ट इतना उछला है। इससे कमजोर छात्रों को भी काफी फायदा हुआ है।
सीबीएसई की तर्ज पर यूपी बोर्ड ने भी हाईस्कूल में ग्रेडिंग सिस्टम दो साल पहले लागू किया था। मगर इस साल से सतत अंक प्रणाली को भी लागू कर दिया था। इसके तहत प्रैक्टिकल विषयों के नंबर देने का जिम्मा स्कूल वालों के पास ही था। तीस नंबर का प्रैक्टिकल और 70 अंक की लिखित परीक्षा के अंक जुड़कर ही पूरा रिजल्ट तैयार किया गया। स्कूल वालों ने तीस अंक के प्रैक्टिकल सब्जेक्ट में अधिकतर छात्र-छात्राओं को तीस-तीस नंबर दे दिए। यही वजह रही कि छात्र-छात्राओं के फेल होने के चांस कम हुए और उनके प्रैक्टिकल सब्जेक्ट में नंबर भी ज्यादा आए। इन सबको जोड़कर कुल मार्क्स के आंकड़े भी ज्यादा बैठे हैं। रामपुर की ही बात की जाए रामपुर में 25148 बच्चे पंजीकृत हुए थे, जिसमें 24353 बच्चे परीक्षा में शामिल हुए थे। इनमें से 20390 बच्चे पास हो गए। इस तरह इस बार का रिजल्ट 83.73 फीसदी रहा है जो कि कई साल का रिकार्ड टूटा है।

Recommended

Spotlight

Related Videos

आज इन बड़ी खबरों पर रहेगी हमारी नजर, आपके लिए जाननी हैं बेहद जरूरी

सोमवार को अमर उजाला टीवी पर आप केरल में बाढ़ के हालात, एशियन गेम्स और इंडिया-इंग्लैंड टेस्ट मैच समेत तमाम बड़ी खबरों पर लगातार अपडेट्स पा सकेंगे।

20 अगस्त 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree