रेड मार्किंग के विरोध में भड़के व्यापारी

Rampur Updated Wed, 06 Jun 2012 12:00 PM IST
रामपुर। हाईवे किनारे स्थित दुकानों और मकानों पर लाल निशान के विरोध में व्यापारियों ने लोक निर्माण विभाग और पालिका पर प्रदर्शन किया। व्यापारियों ने कहा कि अतिक्रमण हटाने के नाम पर ज्यादती बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के बैनर तले व्यापारियों ने पहले लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता का घेराव किया। रेड मार्किंग का कारण पूछा और हाईवे किनारे बनी दुकानों को वैध बताया। संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर पालिका के ईओ का घेराव किया। व्यापारी नेता शैलेंद्र शर्मा ने बताया कि न तो लोक निर्माण विभाग और न ही नगर पालिका के अधिकारी स्वीकार कर रहे हैं कि लाल निशान उन्होंने लगाए हैं। व्यापारी नेता संदीप अग्रवाल सोनी ने कहा कि पहले तो यह बात स्पष्ट होनी चाहिए कि लाल निशान किसने लगाए हैं। रेलवे स्टेशन के करीब हाईवे के किनारे बनी दुकानें, पचास से अधिक पुरानी हैं। उन्होंने कहा कि 25 से 28 फुट तक मार्किंग की गई है। दुकानें बीस-बीस फुट की है। ऐसे में व्यापारी बर्बाद हो जाएगा। उन्होंने रेड मार्किंग की कार्रवाई पर रोक लगाने की मांग की है। इस मौके पर शाहिद शम्सी, इमरान, सलीम, हरीश अरोड़ा, हरीओम, नवीन थे।

Spotlight

Related Videos

दिल्ली में बीजेपी और आप ने एक दूसरे के खिलाफ खोला मोर्चा

दिल्ली में आम आदमी पार्टी और आप नेताओं के बीच मारपीट की घटना के बाद आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता और बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने एक दूसरे के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।

22 फरवरी 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen