विज्ञापन

सपा नेता का सिपाहियों पर हमला, पीटा

Rampur Updated Wed, 06 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
रामपुर। शाहबाद गेट पर वाहन खड़ा करने के विवाद में युवा सपा नेता ने साथियों के साथ मिलकर दो सिपाहियों की पिटाई कर दी। इससे मौके पर अफतरफरी मच गई। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस के आला अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने सिपाही का मेडिकल कराया है। सिपाही ने सपा नेता मुमताज फूल और दो साथियों के खिलाफ तहरीर दी है। पुलिस मामले को लेकर रिपोर्ट दर्ज करने की तैयारी में जुटी है।
विज्ञापन
शाहबाद गेट पर शाम के वक्त सिविल लाइंस कोतवाली के दो सिपाही ड्यूटी पर तैनात थे। शाम लगभग सात बजे सपा नेता पहुंचे। रोड पर वाहन की पार्किंग को लेकर सिपाहियों और युवा सपा नेता मुमताज फूल के बीच विवाद हो गया। आरोप है कि पहले सिपाहियों और मुमताज फूल के बीच नोकझोंक होने लगी। उसके बाद मुमताज फूल ने साथियों के साथ मिलकर सिपाहियों की जमकर पिटाई कर दी। पुलिस से मारपीट होती देखकर चौराहा पर अफरातफरी मच गई। सिपाहियों की पिटाई करने के बाद मुमताज फूल अपने साथियों समेत वहां से खिसक गए। सिपाहियों ने हमले की जानकारी आला अधिकारियों को दी। इसके बाद पुलिस विभाग में खलबली मच गई। मौके पर सीओ सिटी आरके गौतम और इंस्पेक्टर सिविल लाइंस आले हसन पहुंच गए। इसके बाद सिपाहियों का मेडिकल कराया गया। इंस्पेक्टर सिविल लाइंस आले हसन ने बताया कि सिपाही सुरेंद्र ने युवा सपा नेता मुमताज फूल और उनके दो अज्ञात साथियों के खिलाफ तहरीर दी है। तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा। दूसरी ओर इस मामले में मुमताज का पक्ष जानने के लिए फोन किया गया तो उनका मोबाइल स्वीच आफ आया।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Related Videos

मायावती-अजीत जोगी के गठजोड़ से बीजेपी या कांग्रेस में किसे ज्यादा नुकसान?

जैसे-जैसे छत्तीसगढ़ में चुनाव नजदीक आ रहा है वैसे-वैसे नए समीकरण सामने आ रहे हैं। इन्हीं में से एक है मायावती और अजीत जोगी का साथ आना। अब ऐसे में ये देखना दिलचस्प होगा कि इस गठबंधन से किसे ज्यादा नुकसान होगा, कांग्रेस या बीजेपी?

18 अक्टूबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree