विज्ञापन

दूल्हा पर दस हजार रुपये जुर्माना

Rampur Updated Wed, 06 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
शाहबाद। घोसी बिरादरी की पंचायत में पाबंदी के बावजूद दूल्हा जेवर लेकर आ गया। इसके बाद पंचायत ने बतौर सजा दस हजार रुपये का जुर्माना डाला है।
विज्ञापन

मताबली गांव में घोसी बिरादरी का पिछले दिनों मंडल स्तरीय सम्मेलन हुआ था। इसमें दहेज पर पूरी तरह से पाबंदी लगा दी गई थी। इसके साथ ही दूल्हा पक्ष को भी जेवर और कपड़े लाने की सीमा निर्धारित की गई थी। किशनपुर गांव में मंगलवार को गुलाम हुसैन की बेटी शबनम की बारात आई। बारात टांडा क्षेत्र के गांव टोडीपुर से दूल्हा हसनपुर से शेर अली की बरात आई। इसमें लड़का पक्ष सात सोने की चीजों की जगह आठ चीजें लेकर आ गया। बारात की बेहतर तरीके सो खातिरदारी की गई। निकाह की बारी आई तो जेवर ज्यादा होने की बात खुलकर सामने आ गई। इसके बाद बिरादरी के पंच सक्रिय हो गए। उनके कृत्य को पंचायत के फैसले के खिलाफ करार दिया। दूल्हा पक्ष के मान मनौवल करने पर पंचायत ने ज्यादा जेवर लाने की सजा बतौर दस हजार रुपये का जुर्माना डाला। यह जुर्माना अदा करने पर ही निकाह की रस्म को अंजाम दिया गया।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us