खुले मैदान में रखा जाएगा सरकारी गेहूं

Rampur Updated Fri, 01 Jun 2012 12:00 PM IST
रामपुर। गेहूं खरीद में तेजी आने के साथ ही भंडारण की भी समस्या पैदा हो गई। बिलासपुर का गोदाम फुल हो गया और दूसरा गोदाम किराए पर लिया गया है। तीन गोदाम शुगर मिल के चिंहित किए गए हैं। टेक्नीकल टीम से गोदामों का मुआयना कराया जा रहा है। मुरादाबाद में भी गेहूं का भंडारण किया गया है। इसके बाद भी 13000 मीट्रिक टन एससीआई में खुले मैदान में रखना पड़ेगा।
जिले में 90 हजार मीट्रिक टन गेहूं खरीद का लक्ष्य रखा गया है। इसके सापेक्ष अब तक 84202 मीट्रिक टन खरीदा जा चुका है। जैसे-जैसे खरीद में तेजी आई भंडारण की भी समस्या आने लगी है। चूं्कि पहले से एफसीआई गोदाम में पुराना गेहूं है। नया गेहूं रखने के लिए परेशानी आ रही है। शहर में स्थित सीडब्लूसी का गोदाम फुल हो गया। गोदाम में 24400 मीट्रिक टन गेहूं रखा जा सकता है। इसकेसापेक्ष 30000 मीट्रिक गेहूं का भंडारण किया गया है।
बिलासपुर का एसडब्लूसी का गोदाम भी फुल हो गया। भंडारण के लिए गुरुनानक राइस मिल का गोदाम किराए पर लिया गया है। जबकि, 2683 मीट्रिक टन गेहूं मुरादाबाद भेजा गया है। डिप्टी आरएमओ जेएस तेवतिया ने बताया कि 81977 मीट्रिक गेहूं का भंडारण किया जा चुका है। राधा रोड स्थित शुगर मिल के तीन गोदाम चिंहित किए गए हैं। टेक्नीकल टीम से मुआयना कराया जा रहा है। उन्होंने बताया कि 13000 मीट्रिक टन गेहूं का भंडारण एफसीआई गोदाम धमोरा में खुले में रखने का प्लान है।

Spotlight

Related Videos

नॉर्थ - ईस्ट को अशांत करने में पाकिस्तान और चीन सबसे आगे- बिपिन रावत

आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने देश के उत्तर-पूर्व इलाके को लेकर बड़ा बयान देते हुए कहा कि पाकिस्तान और चीन, भारत की शांति और मजबूती को प्रभावित नहीं कर पा रहे।

22 फरवरी 2018

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen